scorecardresearch
 

ऑटो सेक्‍टर में GST कटौती पर मतभेद! Maruti के चेयरमैन बोले- अभी जरूरी नहीं

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने कहा है कि यात्री वाहनों पर जीएसटी में तत्काल कटौती की कोई जरूरत नहीं है.

मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव का बड़ा बयान मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव का बड़ा बयान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लंबे समय से हो रही जीएसटी कटौती की मांग
  • मारुति सुजुकी के चेयरमैन ने दिया बड़ा बयान
  • यात्री वाहनों पर तत्काल कटौती जरूरी नहीं

सुस्‍त पड़ी ऑटो इंडस्‍ट्री में बूस्‍ट के लिए लंबे समय से जीएसटी कटौती की मांग की जा रही है. इस बीच, जीएसटी कटौती को लेकर इंडस्‍ट्री की दिग्‍गज कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) के चेयरमैन आर सी भार्गव का बड़ा बयान आया है.

उन्‍होंने कहा है कि अगले कुछ माह के लिए मांग अच्छी दिख रही है, ऐसे में सरकार को अभी यात्री वाहन में जीएसटी कटौती करने की जरूरत नहीं है. कंपनी के चेयरमैन के मुताबिक अगर भविष्य में मांग कमजोर पड़ती है, तो सरकार जीएसटी में राहत देने पर विचार कर सकती है. आपको बता दें कि यात्री वाहन बाजार में मारुति की बाजार हिस्सेदारी करीब 50 प्रतिशत है.  

क्‍या कहा मारुति सुजुकी के चेयरमैन ने 
न्‍यूज एजेंसी PTI के मुताबिक मारुति सुजुकी के चेयरमैन आर सी भार्गव ने कहा, ‘‘उद्योग ने दूसरी तिमाही में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. मुझे नहीं लगता कि मांग की कमी की वजह से किसी की बिक्री प्रभावित हुई है. मुझे लगता है कि विभिन्न अड़चनों के बाद अभी उत्पादन क्षमता पर काम चल रहा है.’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘यदि मैं सरकार में होता, ऐसे समय जबकि मांग की कमी नहीं है, मेरी नजर में किसी तरह की राहत देना अनावश्यक होगा.’’

देखें: आजतक LIVE TV 

भार्गव ने कहा कि यदि मांग में गिरावट आती है, और ऐसा लगता है यह अस्थायी नहीं है, तब सरकार को कदम उठाने की जरूरत होगी. मारुति के चेयरमैन ने कहा, ‘‘यदि मैं जो उत्पादन कर रहा हूं, सब बेच पा रहा हूं, जीएसटी में कटौती के बाद यदि मांग 30 प्रतिशत बढ़ जाती है, तो मेरे पास बेचने के लिए कार नहीं होगी.’’ 

कब तक करना चाहिए इंतजार 
उद्योग को जीएसटी में कटौती के लिए कब तक इंतजार करना चाहिए, इस सवाल पर भार्गव ने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि आगामी महीनों में मांग की स्थिति क्या रहेगी. उपभोक्ता मांग और बाजार की स्थिति क्या होगी.’’ आपको बता दें कि कई वाहन कंपनियां बाजार को सुस्ती से उबारने के लिए जीएसटी में कटौती की मांग कर रही है. टाटा मोटर्स के अधिकारी शैलेश चंद्रा कह चुके हैं कि जीएसटी में कटौती के रूप में सरकार की ओर से किसी तरह के समर्थन से पूरे यात्री वाहन कैटेगरी को लाभ होगा. महिंद्रा समेत अन्‍य ऑटो कंपनियां भी जीएसटी कटौती की मांग कर चुकी हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें