scorecardresearch
 
ऑटो न्यूज़

इंडियन मार्केट में Tesla से दो-दो हाथ करने को तैयार ये कंपनी, क्रिएट करेगी इतनी जॉब्स

Tesla से टक्कर की तैयारी
  • 1/7

आने वाले समय में इलेक्ट्रिक व्हीकल का बाजार जबरदस्त तरीके से बदलने वाला है. Elon Musk की Tesla ने इंडियन मार्केट में दस्तक दे दी है, अब उससे लोहा लेने उसकी एक प्रतिद्वंदी कंपनी भी भारतीय बाजार में आने वाली है और Tesla को कड़ी टक्कर देने के लिए तैयार है.
(Photos : Reuters)

Triton करेगी तेलंगाना में निवेश
  • 2/7

Tesla की प्रतिद्वंदी कंपनी अमेरिका की Triton EV इंडियन मार्केट में दस्तक देने जा रही है. कंपनी तेलंगाना में अपना प्लांट लगाएगी और इसके लिए उसने तेलंगाना सरकार के साथ एमओयू पर साइन भी किए हैं. कंपनी का प्लांट राज्य के सांगारेड्डी जिले में होगा. (Photos : Triton EV)

बनाती है ये गाड़ियां
  • 3/7

अमेरिकी कंपनी ट्राइटन सिर्फ इलेक्ट्रिक कार बनाने में ही आगे नहीं है. बल्कि कंपनी बिजली से चलने वाली एसयूवी, सेमी ट्रक और डिफेंस के सामान भी बनाती है. कंपनी की योजना बहुत जल्द इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शा पेश करने की भी है. इस तरह कंपनी देश में कमर्शियल व्हीकल मार्केट को भी चुनौती देगी.

करेगी 2,100 करोड़ रुपये का निवेश
  • 4/7

बिजनेस टुडे की खबर के मुताबिक Triton EV तेलंगाना में 2,100 करोड़ रुपये के निवेश से कारखाना लगाएगी. कंपनी का ये प्लांट जहीराबाद के नेशनल इंवेस्टमेंट एंड मैन्युफैक्चरिंग जोन में होगा. कंपनी को प्लांट के लिए जमीन तेलंगाना स्टेट इंडस्ट्रियल इंफ्रास्ट्रक्वचर कॉरपोरेशन (TSIIC) देगी.

पैदा होंगी 25,000 नौकरियां
  • 5/7

तेलंगाना के आईटी और इंडस्ट्रीज मंत्री के. टी. रामा राव ने एक ट्वीट कर कहा कि Triton EV पहले 5 साल में 50,000 वाहन का उत्पादन करेगी. इससे स्थानीय 25,000 युवाओं के लिए नौकरियां पैदा होगी. कंपनी यहां सेमी ट्रक, सेडान, लक्जरी एसयूवी और रिक्शा का उत्पादन करेगी.

‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा
  • 6/7

कंपनी के इस प्लांट से ‘मेक इन इंडिया’ को भी बढ़ावा मिलेगा. तेलंगाना में कंपनी सिर्फ इंडियन मार्केट नहीं बल्कि बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल और खाड़ी देशों के लिए भी व्हीकल का उत्पादन करेगी. (File Photo : Aajtak)
 

न्यूजर्सी की कंपनी
  • 7/7

Triton EV  अमेरिका के न्यू जर्सी में बेस्ड कंपनी है. ये Triton Solar की सब्सिडियरी है जो सोलर पैनल और बैटरी इंजीनियरिंग में काम करती है. ये Tesla की प्रमुख प्रतिद्वंदी कंपनी है. Tesla ने भी इसी साल इंडियन मार्केट में आने की घोषणा की है और उसकी इस योजना के तहत बेंगलुरू में एक R&D सेंटर भी स्थापित किया जाना है. (Photo : Reuters)