scorecardresearch
 
ऑटो न्यूज़

लॉकडाउन में किसान ने घर बैठे बनाई इलेक्ट्रिक कार, सिंगल चार्ज में चलती है 300KM

लॉकडाउन में आया आइडिया
  • 1/6

कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन में अधिकतर लोग घर में रहते-रहते परेशान हो गए. लेकिन कुछ लोगों ने ऐसे वक्त को भुनाया और अपने कामों से मशहूर हो गए. ऐसा ही कमाल ओडिशा के एक किसान ने लॉकडाउन के दौरान घर बैठे-बैठे किया है. इस किसान पर आज हर भारतीय को गर्व हो रहा है.   
 

सुशील अग्रवाल पेशे से किसान
  • 2/6

ओडिशा के मयूरभंज के रहने वाले सुशील अग्रवाल पेशे से किसान हैं. लेकिन उन्होंने देसी जुगाड़ से चार पहियों वाला इलेक्ट्रिक वाहन बनाकर सबका ध्यान खींचा है. सुशील अग्रवाल ने जो इलेक्ट्रिक वाहन बनाया है, उसकी बैटरी सौर ऊर्जा से चार्ज होती है. 
 

शानदार खोज
  • 3/6

सुशील अग्रवाल ने इस वाहन को एक कार का रूप दिया है, जिसमें 850 वॉट मोटर, 100 Ah/ 54 Volts की बैटरी का प्रयोग किया गया है. सबसे खास बात यह है कि यह फुल चार्ज हो जाने पर 300 किलोमीटर तक चल सकती है. महंगे पेट्रोल-डीजल के इस दौर में अगर कोई कार बैटरी से सिंगल चार्ज में 300 km चल सकती है तो वो अपने आप शानदार खोज है. (Photo: File)
 

करीब 8 घंटे में बैटरी फुल चार्ज
  • 4/6

सुशील अग्रवाल के मुताबिक इसकी बैटरी करीब 8 घंटे में फुल चार्ज हो जाती है. हालांकि उन्होंने इस बात को भी साफ कर दिया है कि इस वाहन में प्रयोग होने वाली बैटरी धीरे-धीरे चार्ज होती है. लेकिन बैटरी की लाइफ 10 साल तक की है. 

लॉकडाउन के दौरान ही काम शुरू
  • 5/6

इस इलेक्ट्रिक वाहन को तैयार करने वाले सुशील अग्रवाल ने बताया कि इसपर उन्होंने लॉकडाउन के दौरान ही काम शुरू कर दिया था. उन्होंने दो अन्य मैकनिक और एक दोस्त की मदद से इस कार को तैयार किया है. उन्होंने अपने घर पर ही मोटर बाइंडिंग, इलेक्ट्रिकल फिटिंग और चेसिस वर्क का काम किया है. (सुशील अग्रवाल की तस्वीर)

ईंधन की कीमतों में तेजी की वजह से बनाई इलेक्ट्रिक कार
  • 6/6

सुशील अग्रवाल की मानें तो उन्हें पता था कि लॉकडाउन हटने के बाद ईंधन की कीमतों में तेजी आएगाी, इसलिए उन्होंने इलेक्ट्रिक कार बनाने का फैसला किया. इसके लिए उन्होंने कुछ किताबों को पढ़ा और यूट्यूब पर वीडियो देखी. अब सुशील की चर्चा पूरे देश में हो रही है, उन्होंने पर्यावरण के अनुकूल एक ऐसा वाहन तैयार किया है, जिसकी सख्त जरूरत है. (Photo: File)