scorecardresearch
 

China-Taiwan Crisis 2022: ताइवान में 21 लड़ाकू विमान घुसाकर क्या साबित करना चाहता है चीन? समझिए

China-Taiwan Crisis 2022: ताइवान में 21 लड़ाकू विमान घुसाकर क्या साबित करना चाहता है चीन? समझिए

अमेरिका की स्पीकर नैंसी पेलोसी के ताइवान पहुंचने के 50 मिनट के भीतर चीन ने बड़ी धमकी दे दी है. चीन ने कह दिया है कि वो ताइवान के कुछ हिस्सों में टारगेटेड मिलिट्री एक्शन ले सकता है. अमेरिका में नंबर तीन की ताकत रखने वाली स्पीकर नैंसी पेलोसी मंगलवार रात 8 बजकर 14 मिनट पर ताइवान पहुंची हैं. उनकी फ्लाइट के लैंड होने के तुरंत बाद चीन ने ताइवान में targeted military actions यानी चुनकर सैन्य ठिकानों पर हमले की बात कही. जानें ताइवान में 21 लड़ाकू विमान घुसाकर क्या साबित करना चाहता है चीन.

US House Speaker Nancy Pelosi arrived in Taiwan on Tuesday. Her arrival in Taiwan drew sharp reaction from China which called it a "provocative visit." China's Defense Ministry is on high alert and will launch a series of 'targeted military actions'. Know what does China want to prove by entering 21 fighter planes in Taiwan.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें