scorecardresearch
 

योशिहिदे सुगा बने जापान के नए प्रधानमंत्री, ट्वीट कर पीएम मोदी ने दी बधाई

योशिहिदे सुगा जापान के लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता हैं. संसद के निचले सदन में पीएम पद का नेता चुनने के लिए 462 लोगों ने वोट डाले. इनमें से 314 वोट सुगा को मिले. इससे पहले सोमवार को सुगा को अपनी पार्टी में जीत मिली थी.

पीएम चुने जाने के बाद संसद में आभार जताते सुगा (फोटो-पीटीआई) पीएम चुने जाने के बाद संसद में आभार जताते सुगा (फोटो-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 71 साल के सुगा जापान के नए प्रधानमंत्री
  • शिंजो आबे का लेंगे स्थान
  • 8 साल बाद जापान को मिला नया पीएम

योशिहिदे सुगा को जापान की संसद के निचले सदन ने प्रधानमंत्री पद के लिए चुन लिया है. बुधवार को टोक्यो में उन्हें पीएम चुना गया. इस तरह से सुगा पिछले 8 साल में देश के नए नेता बनकर उभरे हैं. जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने खराब सेहत की वजह प्रधानमंत्री पद की कुर्सी छोड़ने की घोषणा की थी. 

71 साल के सुगा शिंजो आबे के विश्वस्त माने जाते हैं और जापान की राजनीति में उन्हें आबे का दाहिना हाथ भी कहा जाता है. 

पीएम मोदी ने दी बधाई

योशिहिदे सुगा को जापान के नए पीएम चुने जाने पर पीएम मोदी ने बधाई दी है. पीएम ने ट्वीट कर कहा है कि नया प्रधानमंत्री नियुक्त होने पर वे उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं. पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि दोनों देश अपने विशेष रणनीतिक संबंधों और वैश्विक साझेदारी को नई उच्चाइयों तक ले जाएंगे.

निर्वाचन से पहले सुगा ने घोषणा की है कि वे शिंजो आबे सरकार की कई नीतियों को जारी रखेंगे. जापान में शिंजो की आर्थिक नीतियों को 'आबेनॉमिक्स' कहा जाता है. 

योशिहिदे सुगा लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता हैं. संसद के निचले सदन में पीएम पद का नेता चुनने के लिए 462 लोगों ने वोट डाले. इनमें से 314 वोट सुगा को मिले. इससे पहले सोमवार को सुगा को अपनी पार्टी में जीत मिली थी. पीएम पद की रेस में उन्होंने अपनी पार्टी के दो प्रतिद्वंदियों को पछाड़ा था. 

कौन हैं सुगा

योशिहिदे सुगा आबे सरकार में कैबिनेट सचिव थे. 71 साल के सुगा की एक साधारण किसान परिवार में जन्म लेकर जापान की सत्ता के सर्वोच्च शिखर तक पहुंचने की कहानी रोमांचक है. 

सुगा की पैदाइश स्ट्राबेरी की खेती करने वाले एक किसान के यहां हुई थी. सुगा ने राजनीति में अपना रास्ता खुद बनाया. इसके पहले उन्होंने कार्डबोर्ड फैक्ट्री में नौकरी की, मछली बाजार में काम किया. तब वे जापान के कॉरपोरेट वर्ल्ड में आए. 
अपना पहला चुनाव लड़ने में योशिहिदे सुगा इतना पैदल चले कि उनके 6 जोड़ी जूते घिस गए. 

बतौर नए पीएम चुनौतियों की भरमार 

बतौर नए पीएम सुगा के सामने चुनौतियों की भरमार है. उनके पास कूटनीतिक अनुभव की कमी है. इसके अलावा उन्हें चीन-अमेरिका बीच चल रहे तनाव से सामंजस्य स्थापित करना है. अमेरिका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव के बाद नए राष्ट्रपति के साथ अपने रणनीतिक संबंध मजबूत करने होंगे और जापान-चीन संबंधों पर सजग रहना होगा. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें