scorecardresearch
 

ट्रंप को हटाने के पक्ष में नहीं पेंस, 25वें संशोधन पर विचार नहीं, महाभियोग पर पार्टी में बगावत

उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने अमेरिकी संविधान के उस प्रावधान को अमल में लाने से इनकार कर दिया है जो उन्हें समय पूर्व ही राष्ट्रपति ट्रंप को अपने पद से हटाने का अधिकार देता है. उन्होंने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग को भी सही नहीं कहा है.

उपराष्ट्रपति पेंस ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग को सही नहीं ठहराया है (फोटो- रॉयटर्स) उपराष्ट्रपति पेंस ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग को सही नहीं ठहराया है (फोटो- रॉयटर्स)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ट्रंप को हटाने के लिए 25वें संशोधन का सहारा नहीं
  • 7 दिन बाद ट्रंप का कार्यकाल हो रहा है पूरा
  • ट्रंप की पार्टी के सांसद ही चाहते हैं महाभियोग

अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने अमेरिकी संविधान के उस प्रावधान को अमल में लाने से इनकार कर दिया है जो उन्हें समय पूर्व ही राष्ट्रपति ट्रंप को अपने पद से हटाने का अधिकार देता है. अमेरिकी संविधान के 25वें संशोधन में जिक्र है कि अगर वर्तमान राष्ट्रपति कुछ कारणों से अपने पद की जिम्मेदारी उठा नहीं पाते हैं तो उप राष्ट्रपति राष्ट्रपति को हटाकर देश की संवैधानिक शक्तियां अपने हाथ में ले सकते हैं. 

बता दें कि ट्रंप का कार्यकाल अब मात्र 7 दिनों का रह गया है. 20 जनवरी को डेमोक्रेट जो बाइडेन अमेरिका के नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगे. डोनाल्ड ट्रंप बाइडेन को शांतिपूर्ण सत्ता हस्तांतरण के लिए तैयार हो गए हैं. 

उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने स्पीकर नैंसी पेलोसी को लिखे पत्र में कहा है कि वह ट्रंप को पद से समय पूर्व हटाने के लिए 25वें संशोधन का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं. माइक पेंस ने पत्र में कहा है कि पिछले सप्ताह कैपिटल हिल पर हुई हिंसा के बाद ये वक्त जख्मों पर मरहम लगाने का है. 
 
माइक पेंस ने कहा कि वो कांग्रेस से अपील कर रहे हैं कि ये वक्त जो बाइडेन को सत्ता सौंपने की तैयारी का है. उन्होंने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने से भी इनकार किया. 

माइक पेंस ने कहा कि वो कांग्रेस के सदस्यों से अपील कर रहे हैं कि वो ऐसे कदम न उठाएं जिससे देश में और भी विभाजन का खतरा हो और लोगों की भावनाएं भड़के.

पेंस ने कहा कि 25वां संशोधन राष्ट्रपति की 'अयोग्यता' और 'अक्षमता' का जिक्र करता है. उन्होंने कहा कि प्रतिनिधि सभा के सदस्य राजनीतिक हित के लिए इसकी चर्चा कर रहे हैं. 

देखें: आजतक LIVE TV

हालांकि ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने के मुद्दे पर उनकी अपनी ही रिपब्लिकन पार्टी में दो विचार नजर आ रहे हैं. रिपब्लिकन पार्टी के तीन सांसदों ने कहा है कि वे ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने के डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रस्ताव का समर्थन करेंगे. 

अमेरिका की प्रतिनिधि सभा में ट्रंप की पार्टी तीसरी सबसे ताकतवर नेता लिज चेनी ने कहा है कि किसी भी दूसरे अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने पद और संविधान की रक्षा की अपनी शपथ के साथ ऐसी धोखेबाजी नहीं की  जैसा कि ट्रंप ने किया है, मैं ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने के प्रस्ताव का समर्थन करूंगी. 

बता दें कि ट्रंप की विरोधी पार्टी डेमोक्रेट्स के सांसद कैपिटल हिल की हिंसा भड़काने के खिलाफ बुधवार को हाउस ऑफ रिपरजेंटेटिव में महाभियोग का प्रस्ताव ला रहे हैं. इस पर सदन में वोटिंग होगी. 

लिज चेनी के बयान का ट्रंप की पार्टी के दो और सांसदों एडम किनजिंगर और जॉन काटको ने समर्थन किया है.  

इधर डोनाल्ड ट्रंप ने अपने खिलाफ लाए गए महाभियोग की प्रक्रिया को बेतुका बताया है और कहा है कि इससे लोगों का गुस्सा और बढ़ेगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें