scorecardresearch
 

तालिबान की धमकी के बावजूद मुशर्रफ ने ली वापस लौटने की कसम

पाकिस्तानी तालिबान की ओर से जान से मारने की धमकी दिए जाने के कुछ ही घंटों बाद पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने कहा कि वह आगामी चुनाव में अपनी पार्टी का नेतृत्व करने के लिए स्वनिर्वासन से वापस जरूर लौटेंगे.

X

पाकिस्तानी तालिबान की ओर से जान से मारने की धमकी दिए जाने के कुछ ही घंटों बाद पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ  ने कहा कि वह आगामी चुनाव में अपनी पार्टी का नेतृत्व करने के लिए स्वनिर्वासन से वापस जरूर लौटेंगे.

एक प्रीतिभोज के दौरान अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुशर्रफ ने यहां कहा, ‘घोषणा के अनुरूप ही मैं घर जा रहा हूं. मैं किसी चीज से डरा हुआ नहीं हूं. फिर चाहे आतंकवादियों की ओर से मिली जान की धमकी हो या पहुंचते ही गिरफ्तार होने का मामला.’ मुशर्रफ रविवार सुबह अपने समर्थकों के साथ दुबई से कराची के लिए रवाना होने वाले हैं.

कराची पहुंचते ही उनकी हत्या करने के लिए आत्मघाती हमलावर और स्नाइपर भेजने की तालिबान की धमकी पर मुशर्रफ ने ‘गल्फ न्यूज’ से कहा, ‘सेना में 40 वर्ष की सेवा देने वाला पूर्व कमांडो होने के नाते मैं डरपोकों वाले इन धमकियों से कायर नहीं बन सकता.’

पश्चिमोत्तर पाकिस्तान में संवाददाताओं को मिले वीडियो ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रवक्ता एसहानुल्ला एहसान ने शनिवार को कहा कि मुशर्रफ की वापसी पर वह चरमपंथियों का मुख्य निशाना होंगे. एहसान ने मुशर्रफ को तालिबान के समक्ष समर्पण करने को कहा है.

भारत के संबंध में मुशर्रफ के विचार:
मैं दिलो दिमाग से भारत के साथ शांति चाहता हूं. प‍ाकिस्‍तान अकेला नहीं है. आपने 1971 में हमारे देश के दो टुकड़े कर दिए थे. अफगानिस्‍तान में आपका वाणिज्य दूतावास पाकिस्‍तान विरोधी गति‍विधियों में शामिल है. मैं जानता हूं कि आप लोग बलूचिस्‍तान में आतंकवादियों को मदद कर रहे हैं. आप हमेशा सियाचिन पर बात करने से बचते हैं, हम दोनों देश एक-दूसरे पर गुस्‍सा रहते हैं और एक-दूसरे को नुकसान भी पहुंचाया है.

मुशर्रफ के लौटने से पहले वजीरिस्‍तान में आत्मघाती हमला
रविवार को मुशर्रफ के लौटने से पहले ही शनिवार शाम को पाकिस्तान के उत्तर वजीरिस्तान कबाइली इलाके में एक जांच चौकी पर आत्‍मघाली हमलावर ने हमला बोल दिया. आत्मघाती हमलावर ने जांच चौकी पर विस्फोटकों से लदे एक ट्रक से टक्कर मार दी, जिसमें आठ सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई जबकि 12 से ज्‍यादा लोग घायल हो गए.

टीवी समाचार चैनलों ने अधिकारियों के हवाले से बताया है कि हमलावरों ने शनिवार शाम मिरनशाह के पास इशा चौकी को निशाना बनाया. मिरनशाह उत्तर वजीरिस्तान एजेंसी का मुख्य शहर है. सैनिकों ने इलाके को घेर लिया है और तलाशी अभियान शुरू कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें