scorecardresearch
 

मुशर्रफ ने देशद्रोह मामले के खिलाफ दायर की अपील

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने देशद्रोह का मुकदमा चलाने के लिए विशेष अदालत गठित किए जाने के खिलाफ मंगलवार को अपील दायर की. जिओ न्यूज के मुताबिक, मुशर्रफ ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट में दायर अपील में न्यायमूर्ति रियाज अहमद खान के फैसले को चुनौती दी है.

X

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने देशद्रोह का मुकदमा चलाने के लिए विशेष अदालत गठित किए जाने के खिलाफ मंगलवार को अपील दायर की. जिओ न्यूज के मुताबिक, मुशर्रफ ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट में दायर अपील में न्यायमूर्ति रियाज अहमद खान के फैसले को चुनौती दी है.

न्यायमूर्ति खान ने देशद्रोह का मुकदमा चलाए जाने के खिलाफ दायर मुशर्रफ की तीन याचिकाओं को ठुकरा दिया. मुशर्रफ को 1 जनवरी को विशेष अदालत में हाजिर होना है.

खालिद रांझा और वकील फैसल परवेज की ओर से दायर अर्जी में आरोप लगाया गया है कि विशेष अदालत का गठन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और पाकिस्तान के पूर्व प्रधान न्यायाधीश इफ्तिखार मोहम्मद चौधरी की साजिश है. इसलिए विशेष अदालत को कामकाज करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. हाई कोर्ट से यह भी आग्रह किया गया है कि विशेष अदालत को काम करने से रोका जाए और मुशर्रफ को निष्पक्ष सुनवाई का मौका दिया जाए. इसलिए मुकदमे की सुनवाई सैन्य अदालत में होनी चाहिए.

इससे पहले मुशर्रफ ने विशेष अदालत में न्यायाधीशों और अभियोजक की नियुक्ति को चुनौती दी थी. न्यायमूर्ति खान ने 23 दिसंबर को मुशर्रफ की अर्जी को मंजूर किए जाने के लायक नहीं पाया था. पूर्व सैनिक तानाशाह पर 1973 के संविधान के खिलाफ काम करते हुए 2007 में आपातकाल लागू करने और न्यायपालिका की सर्वोच्चता को दबाने का आरोप है. मुशर्रफ को चार बड़े मामलों में जमानत मिल चुकी है, लेकिन देशद्रोह के मामले में सुनवाई उनकी सबसे बड़ी चुनौती होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें