scorecardresearch
 

ट्रंप ने कहा- अमेरिका ने जीता ट्रेड वॉर, चीन को हुआ नुकसान

ट्रेड वॉर को लेकर अमेरिका और चीन के बीच जुबानी जंग जारी है. ताजा हमला अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किया है. उन्होंने खुद को विजेता घोषित किया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

दुनिया के दो सबसे ताकतवर देश अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर जारी है. दोनों देश एक दूसरे पर बयान से तीखे हमले कर रहे हैं. ताजा बयान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दिया है. उन्होंने दावा किया है ट्रेड वॉर से चीन को नुकसान हुआ है. ट्रंप ने खुद को विजेता घोषित करते हुए कई ट्वीट किए हैं.

उन्होंने कहा कि टैरिफ कल्पना से बेहतर काम कर रहा है. पिछले 4 महीनों में चीन का मार्केट 27 पर्सेंट गिरा है और वह हम से बात कर रहे हैं. हमारा बाजार सर्वकालिक मजबूत है, और ट्रेड डील्स पर सफलतापूर्वक तोल-मोल के बाद हम नाटकीय ढंग से ऊपर जाएंगे. 

उन्होंने कहा कि टैरिफ का हमारे इस्पात उद्योग पर बहुत सकारात्मक प्रभाव पड़ा है. अमेरिका में प्लांट्स खुल रहे हैं. स्टील का काम करने वाले लोग फिर से काम कर रहे हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि टैरिफ आज की तुलना में हमारे देश को ज्यादा अधिक समृद्ध बना देगा. हम उचित व्यापार सौदों पर बातचीत करने के लिए उनका उपयोग कर रहे हैं और अगर अभी भी देश बातचीत करने के इच्छुक नहीं हैं, तो वे टैरिफ के रूप में हमें बड़ी राशि का भुगतान करेंगे. हम किसी भी तरह से जीतते हैं.   

उन्होंने कहा कि चीन, जो पहली बार हमारे खिलाफ खराब प्रदर्शन कर रहा है. वह विज्ञापनों और पीआर पर खर्च कर रहा है और हमारे राजनेताओं को टैरिफ पर मुझसे लड़ने के लिए डराने की कोशिश कर रहा है. क्योंकि वे वास्तव में अपनी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा रहे हैं. इसी तरह अन्य देशों में हम जीत रहे हैं.

चीन ने किया था पलटवार

इससे पहले चीन ने शुक्रवार को कहा था कि वह अमेरिका से आयातित करीब 60 अरब डॉलर के उत्पादों पर अतिरिक्त शुल्क लगायेगा. अमेरिका ने इसका जवाब देते हुए कहा था कि चीन को जवाबी कार्रवाई करने के बजाय उसकी अनुचित व्यापार गतिविधियों पर चिंताओं को दूर करना चाहिए.  

चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने कहा था कि अमेरिका के चीन से आयातित 200 अरब डॉलर के माल पर शुल्क को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत करने की योजना के जवाब में शुल्क लगाने का फैसला किया गया है.  

मंत्रालय ने कहा कि वह अमेरिका से आयातित 60 अरब डॉलर के उत्पादों पर 5 से 25 प्रतिशत का शुल्क लगायेगा. वहीं, चीन के वित्त मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका के चीन से आयातित 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर शुल्क लगाने की धमकी के जवाब में यह उपाय किया गया है.  

अप्रैल में शुरू हुआ था विवाद

दोनों देश के बीच यह विवाद अप्रैल में शुरू हुआ था. जब ट्रंप प्रशासन ने एल्युमीनियम और इस्पात पर आयात शुल्क लगाया था. इसके जवाब में चीन ने भी अमेरिकी उत्पादों पर अतिरिक्त शुल्क लगा दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें