scorecardresearch
 

स्टूडेंट को घर पर बुलाकर टीचर ने बनाए संबंध, 20 साल बाद हुई कार्रवाई

स्कूल की छात्रा के साथ फिजिकल रिलेशन बनाने के मामले में एक टीचर पर करीब 20 साल बाद कार्रवाई की गई है. उसे स्कूल में पढ़ाने से जिंदगी भर के लिए बैन कर दिया गया है. छात्रा ने टीचर पर कई आरोप लगाए थे. छात्रा के मुताबिक, टीचर ने अपने घर बुलाकर कई बार उसके साथ संबंध बनाए.

X
टीचर पर छात्रा ने लगाए गंभीर आरोप (सांकेतिक फोटो- गेटी) टीचर पर छात्रा ने लगाए गंभीर आरोप (सांकेतिक फोटो- गेटी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जांच पैनल ने टीचर को विश्वास तोड़ने वाला बताया
  • टीचर अब किसी भी स्कूल में नहीं पढ़ा पाएंगे

स्कूली छात्रा के साथ शारीरिक संबंध बनाने के मामले में एक टीचर पर करीब 20 साल बाद कार्रवाई की गई है. टीचर को आजीवन टीचिंग से बैन कर दिया गया है.  

20 साल पुराने इस मामले की जांच में अहम मोड़ छात्रा के नोट बुक में लिखे गए टीचर के एक मैसेज से आया. द मिरर के मुताबिक, इस ब्रिटिश टीचर का नाम जोएल मैन्सेल (Joel Mansell) है और अब उसकी उम्र 48 साल हो चुकी है. जोएल ने साल 1977 में टीचिंग के लिए क्वालीफाई करने के बाद 2001 में नॉटिंघम के एक स्कूल में पढ़ाना शुरू किया था. 

जोएल ने अपनी पोस्ट का फायदा उठाते हुए एक छात्रा के साथ संबंध बनाए. इसके बाद मार्च 2018 में छात्रा ने ईमेल के जरिए बाल यौन शोषण की स्वतंत्र जांच एजेंसी से संपर्क किया और आरोप लगाया कि जोएल ने 2001-2002 की अवधि के दौरान एक छात्रा के रूप में उसका शोषण किया था. 

घर बुलाकर कई बार बनाए संबंध

द मिरर के मुताबिक, मामले की सुनवाई के दौरान जांच पैनल के सामने छात्रा ने बताया कि कैसे जोएल ने उसे फोन नंबर दिया और फिर अपने घर बुलाकर कई बार संबंध बनाए. तब टीनेजर रही छात्रा की पहचान जाहिर नहीं की गई है.

छात्रा ने कहा कि उसने जोएल के घर पर वर्जिनिटी खोई थी. हालांकि, टीचर ने छात्रा के आरोपों से साफ इनकार कर दिया. लेकिन जांच में अहम मोड़ तब आया टीचिंग रेगुलेशन एजेंसी ने उस वक्त के स्कूल के नोट्स से सबूत जुटाने शुरू किए.

सुनवाई की अध्यक्षता करने वाली हिलेरी जोन्स ने कहा कि पैनल को लड़की की लीविंग बुक (नोट बुक) की एक प्रति दिखाई गई, जिसमें एक जगह टीचर ने छात्रा के लिए कुछ 'पर्सनल' बातें लिखी थीं. उनका स्कूल या पढ़ाई से कोई लेना-देना नहीं था. पैनल ने माना कि सबूत के इस टुकड़े से छात्रा के आरोपों को बल मिला. अंत में पैनल ने जोएल के आचरण को छात्र और टीचर के विश्वास को तोड़ने वाला बताया.


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें