scorecardresearch
 

PM मोदी ने यूक्रेन के राष्ट्रपति को क्या सलाह दी थी? जेलेंस्की ने बताया

यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने पीएम मोदी का जिक्र किया है. उनका कहना है कि उन्होंने पीएम मोदी से बात की थी. उनके मुताबिक बातचीत के जरिए समाधान निकालने पर जोर दिया गया था.

X
पीएम नरेंद्र मोदी पीएम नरेंद्र मोदी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएम मोदी का बातचीत के जरिए समाधान पर जोर
  • जेलेंस्की को उम्मीद- सुरक्षित होगा यूक्रेन का आसमान

यूक्रेन और रूस के बीच में भीषण युद्ध पिछले 13 दिन से जारी है. इस युद्ध की वजह से कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. इस बीच पीएम मोदी ने हाल ही में यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की से फोन पर बात की थी. अब खुद जेलेंस्की ने भी उस बातचीत का जिक्र किया है.

उन्होंने कहा है कि मेरी पीएम मोदी से बात हुई थी. कुछ चीजें बातचीत के जरिए हल नहीं होती हैं. ऐसे भी पहलू होते हैं, जहां पर हमारी सीधी सक्रियता नहीं रहती है. लेकिन इंसानियत की जीत होना जरूरी रहता है. हर डर से उबरना जरूरी है. फिर वो मौका जरूर आएगा जब यूक्रेन का आसमान सुरक्षित होगा और हर जगह से तमाम पाबंदियां हटा दी जाएंगी. वैसे पीएम मोदी ने जब पहले भी बात की थी, तब कूटनीतिक रास्ते पर आने की सलाह दी गई थी.

राष्ट्रपति पुतिन से फोन पर बातचीत के दौरान भी इसी मुद्दे पर जोर दिया गया था. लेकिन जमीन पर अभी बातचीत वाला रास्ता सफल नहीं हो रहा है. दोनों में से कोई भी देश झुकने को तैयार नहीं है और हमलों का सिलसिला जारी है. जेलेंस्की तो दावा कर चुके हैं कि रूस की तरफ से सुमी में 500 किलो के बम गिराए गए हैं. मारियूपोल में एक बच्चे की मौत की पुष्टि भी कर दी गई है. ऐसे में स्थिति हर बीतते दिन के साथ बिगड़ रही है. 

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने जो आंकड़ा जारी किया है, उसके मुताबिक अभी तक रूसी सेना की कार्रवाई की वजह से 38 बच्चे अपनी जान गंवा चुके हैं, वहीं 70 घायल बताए जा रहे हैं. इसके अलावा 400 लोग भी इस 13 दिन के युद्ध में अपनी जान गंवा चुके हैं. अब अगर यूक्रेन ने अपने नागरिकों का ये आंकड़ा जारी किया है, तो उसी की तरफ से रूस को लेकर भी बड़ा दावा हुआ है. खुद राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा है कि इस युद्ध में रूस के 12 हजार से ज्यादा सैनिकों को मौत के घाट उतार दिया गया है.

वैसे अगर यूक्रेन को नुकसान झेलना पड़ रहा है, तो इस युद्ध की वजह से रूस पर भी कई तरह के प्रतिबंध लग चुके हैं. खबर है कि अमेरिका अब रूसी तेल और कोयले के आयात पर भी प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहा है. LNG के आयात पर भी अमेरिका कोई बड़ा फैसला ले सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें