scorecardresearch
 

PAK: जनरल राहिल शरीफ 29 नवंबर को हो जाएंगे रिटायर, फेयरवेल टूर शुरू

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए 29 नवंबर को अपने पद से रिटायर होने जा रहे हैं. जनरल शरीफ ने रिटायर होने से पहले सेना की अलग-अलग यूनिटों में फेयरवेल विजिट के लिए जाना शुरू कर दिया है.

X
 राहिल शरीफ
राहिल शरीफ

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए 29 नवंबर को अपने पद से रिटायर होने जा रहे हैं. जनरल शरीफ ने रिटायर होने से पहले सेना की अलग-अलग यूनिटों में फेयरवेल विजिट के लिए जाना शुरू कर दिया है.

पाक सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम बाजवा ने बताया कि चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ ने सोमवार को लाहौर से फेयरवेल विजिट की शुरुआत की है. बाजवा के मुताबिक जनरल राहिल ने लाहौर गैरिसन में बड़ी संख्या में मौजूद सैनिकों और रेंजर्स को संबोधित किया.

जनरल राहिल ने कहा, 'शांति और स्थिरता को साथ हासिल करना साधारण काम नहीं था. हमारे बलिदानों और संयुक्त राष्ट्रीय संकल्प ने देश के सामने पेश आई सभी चुनौतियों का सामना करने में मदद की.' 60 वर्षीय जनरल राहिल की ओर से इस महीने के अंत में अगले सेना प्रमुख को चार्ज दिए जाने संभावित है. शुक्रवार को जनरल राहिल लाहौर में गर्वमेंट कॉलेज यूनिवर्सिटी का दौरा किया. जनरल राहिल ने कॉलेज की पढ़ाई यहीं से की थी. इस मौके पर जनरल राहिल ने छात्रों और टीचर्स के साथ मुलाकात की.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के पास देश का अगला सेना प्रमुख चुनने के लिए 4 विकल्प हैं.
1. चीफ ऑफ जनरल स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल जुबैर हयात
2. मुल्तान कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल इशफाक नदीम
3. बहावलपुर कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जावेद इकबाल रामडे
4. इंस्पेक्टर जनरल ट्रेनिंग एंड इवेल्यूशन लेफ्टिनेंट जनरल कमर जावेद बाजवा

ताजा घटनाक्रम से पहले सरकारी सूत्रों ने बताया था कि लेफ्टिनेंट जनरल नदीम और लेफ्टिनेंट जनरल बाजवा को सेना प्रमुख की दौड़ में सबसे आगे माना जा रहा है. एक और सूत्र के मुताबिक प्रधानमंत्री ने नया सेना प्रमुख चुनने के मामले में जनरल राहिल के साथ विचार विमर्श पूरा कर लिया है. अब इस हफ्ते वो अहमद या बाजवा में से एक को चुन सकते हैं.

जनरल राहिल ने इस साल जनवरी में ही साफ कर दिया था कि वो कार्यकाल खत्म होने के बाद विस्तार नहीं मांगेंगे. ऐसी अटकलें चल रही थीं कि नवाज शरीफ सरकार उन्हें ऐन मौके पर कार्यकाल में विस्तार दे देगी, ये तर्क देते हुए कि आतंकवाद के खिलाफ जारी लड़ाई में उनका बने रहना जरूरी है. सेना प्रमुख को पाकिस्तान में सबसे शक्तिशाली माना जाता है. ये पांचवीं बार होगा जब नवाज शरीफ देश की साढ़े पांच लाख जवानों वाली थल सेना के टॉप कमांडर का चुनाव करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें