scorecardresearch
 

PM मोदी को सार्क सम्मेलन में बुलाएगा PAK, करतारपुर कॉरिडोर सुधारेगा रिश्ते?

पाकिस्तान में इस साल सार्क सम्मेलन होने जा रहा है, जिसमें शामिल होने के लिए पाकिस्तान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न्योता देने की बात कह  रहा है.

पीएम मोदी और इमरान खान (फाइल फोटो) पीएम मोदी और इमरान खान (फाइल फोटो)

करतारपुर कॉरिडोर के जरिए रिश्तों में नरमी की चर्चा के बीच पाकिस्तान ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सार्क सम्मेलन में बुलाने का फैसला किया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ से ये जानकारी दी गई है कि इस साल प्रस्तावित सार्क सम्मेलन में शामिल होने के लिए पीएम मोदी को न्योता भेजा जाएगा.

20वें दक्ष‍िण एशि‍याई क्षेत्रीय सहयोग संघ (SAARC) सम्मेलन का आयोजन पाकिस्तान में हो रहा है. हालांकि, इससे पहले 2016 में 19वें सार्क शिखर सम्मेलन का आयोजन भी पाकिस्तान में किया जाना था, लेकिन भारत समेत बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान ने इस समिट में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद ये सम्मेलन रद्द करना पड़ा था. बांग्लादेश घरेलू परिस्थितियों का हवाला देते हुए इस सम्मेलन में शामिल नहीं हुआ था.

अब जबकि पाकिस्तान में सत्ता परिवर्तन हो चुका है और इमरान खान के नेतृत्व में नई सरकार इस बार सभी सदस्य देशों को मनाने की कोशिश करती दिखाई दे रही है, क्योंकि उसे डर है कि सितंबर, 2016 की तरह इस बार भी कहीं सदस्य देश इसमें शिरकत की योजना कैंसिल न कर दें और सम्मेलन रद्द न करना पड़े.

बता दें कि पिछले दो साल से पाकिस्तान सार्क सम्मेलन का आयोजन नहीं कर पा रहा है. इसकी वजह से उस पर इस बात का काफी दबाव है कि सम्मेलन को सफल तरीक से आयोजित किया जाए.

सार्क के फिलहाल आठ देश सदस्य हैं-अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल, मालदीव, पाकिस्तान और श्रीलंका. जम्मू-कश्मीर के उरी में 18 सितंबर, 2016 को आतंकी हमले के बाद भारत ने साल 2016 में इस सम्मेलन में शामिल न होने का निर्णय लिया था. आखिरी सार्क शिखर सम्मेलन 2014 में काठमांडू में आयोजित किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें