scorecardresearch
 

न्यूजीलैंड की सेना से ज्यादा हमने खिलाड़ियों के लिए फौज लगा दी थी: पाकिस्तान

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड ने पाकिस्तान में सुरक्षा कारणों के चलते क्रिकेट सीरीज खेलने से मना कर दिया है जिसके बाद से ही पाकिस्तानी फैंस निराश हैं. अब इस मामले में पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि सरकार इस मसले पर वकीलों से परामर्श करेगी कि क्या न्यूजीलैंड और इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के पाकिस्तानी दौरे को रद्द करने के चलते कोई कानूनी एक्शन लिया जा सकता है. 

शेख राशिद फोटो क्रेडिट: गेटी इमेज शेख राशिद फोटो क्रेडिट: गेटी इमेज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • न्यूजीलैंड के ऐन वक्त पर दौरा रद्द करने से गुस्से में पाकिस्तान
  • न्यूजीलैंड के फैसले से हुआ पाकिस्तान को नुकसान
  • ऐक्शन लेने पर विचार कर रही सरकार

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड ने पाकिस्तान में सुरक्षा कारणों के चलते क्रिकेट सीरीज खेलने से मना कर दिया है जिसके बाद से ही पाकिस्तानी फैंस निराश हैं और सोशल मीडिया पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं. वहीं, पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर्स इस घटना को लेकर लगातार बयान दे रहे हैं. अब इस मामले में पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद का भी बयान आया है. उन्होंने आसमां सिराजी को दिए इंटरव्यू में सीरीज रद्द होने को लेकर निराशा जताई.

शेख रशीद ने सुरक्षा के मुद्दे को लेकर कहा कि रूस में यूनिवर्सिटी में कुछ स्टूडेंट्स मरे, अमेरिका में कुछ दिनों पहले हमले में लोग मारे गए, खुद न्यूजीलैंड में इतने लोग मर चुके हैं. हमने तो न्यूजीलैंड के लिए अपनी इतनी फौज लगा दी थी कि न्यूजीलैंड की आर्मी या न्यूजीलैंड की सारी सिक्योरिटी फोर्स को भी मिला लिया जाए तो भी उनकी संख्या इतनी नहीं होगी जितनी हमने न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों की सुरक्षा में अपनी आर्मी लगा दी थी. न्यूजीलैंड को अगर किसी तरह का अंदेशा था तो उन्हें प्रैक्टिस मैच के दौरान ही बता देना चाहिए था.

'भारत पर सुपरपावर बनने का खुमार'

जब शेख रशीद से पूछा गया कि न्यूजीलैंड की सुरक्षा से जुड़ा ईमेल कहां से आया तो उन्होंने कहा कि हम जल्द ही इंवेस्टिगेशन के सहारे ये पता लगा लेंगे कि ये ईमेल कहां से आई है. हालांकि मैं ये भी कहना चाहता हूं कि भारत इस मसले में एक बड़ा ही गैर-जिम्मेदाराना रोल अदा करने जा रहा है. भारत ऑस्ट्रेलिया, जापान, अमेरिका की तरह अपने आपको सुपरपावर समझ रहा है और भारत के दिमाग से ये खुमार निकल ही नहीं रहा है. सेर की हड्डियों में हिंदुस्तान डेढ़ सेर बढ़ गया है.

'खेल भले उनका हो, शौक हमारा है'

जब उन्हें बताया गया कि पांच देशों के सिक्योरिटी समूह ने पाकिस्तान में खतरे की बात कही है तो शेख राशिद ने कहा कि सारी दुनिया मानती है कि आईएसआई दुनिया की बेस्ट खुफिया एजेंसी है, पाकिस्तान के पायलट को दुनिया का बेस्ट पायलट्स में शुमार किया जाता है तो ऐसे में अगर सुरक्षा को लेकर ई-मेल आया है तो उन्हें ये खतरा मैच से पहले या टूर होने से पहले नहीं दिखाई दिया? आखिर उन्होंने ऐन मौके पर ही दौरा क्यों रद्द किया? मैं निजी तौर पर मानता हूं कि ये जरूरी नहीं था. हमारे देश के हजारों आर्मी वाले क्रिकेट मैच के लिए लगे हुए थे. दुकानें बंद थीं. बहुत एहतियात बरती जा रही थी. ये खेल उनका है लेकिन शौक हमारा है. तो हमने आवाम का शौक पूरा करने के लिए सब किया था. उम्मीद थी कि लोग मैच का मजा उठाएंगे लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसा हो नहीं पाया. 

सूचना मंत्री बोले- इंग्लैंड और न्यूजीलैंड पर ले सकते हैं लीगल एक्शन 
बता दें कि इस मामले में पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने कहा है कि सरकार इस मसले पर वकीलों से परामर्श करेगी कि क्या न्यूजीलैंड और इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के पाकिस्तानी दौरे को रद्द करने के चलते कोई कानूनी एक्शन लिया जा सकता है. 

फवाद चौधरी ने ट्विटर पर ट्वीट करते हुए कहा कि न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड और इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड के पाकिस्तानी टूर कैंसिल करने के चलते पाकिस्तान को काफी आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा है. उन्होंने लिखा कि हम दोनों बोर्ड के खिलाफ लीगल एक्शन के बारे में वकीलों से बातचीत करेंगे. एक खास तरह की विदेशी लॉबी हमारे खिलाफ लगी हुई है लेकिन जो लोग हमें झुकाना चाहते हैं, उन्हें ये जान लेना चाहिए कि वे अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होंगे. 

न्यूजीलैंड के बाद इंग्लैंड ने भी दिया था पाकिस्तान को झटका

गौरतलब है कि फवाद चौधरी के इस ट्वीट से एक दिन पहले ही इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने घोषणा की थी कि उन्होंने अपनी मेन और वीमेन क्रिकेट टीमों का पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया है. ये दौरा अगले महीने होने जा रहा था. इससे तीन दिन पहले ही न्यूजीलैंड ने भी पहले वन डे मैच से कुछ मिनटों पहले पाकिस्तान में अपने टूर को रद्द कर दिया था.

ईसीबी ने अपने बयान में कहा था कि इस क्षेत्र में यात्रा करने को लेकर काफी चिंताएं हैं. इस बयान में ये भी लिखा था कि पाकिस्तान दौरे पर आगे बढ़ने का मतलब होगा कि खिलाड़ियों पर और भी ज्यादा दबाव बनेगा जो पहले से ही कोविड प्रभावित क्षेत्र में लंबे समय तक रहे हैं. गौरतलब है कि कोरोना महामारी ने कई पश्चिमी देशों की तरह ही ब्रिटेन को भी काफी प्रभावित किया है. 
 

खुफिया एजेंसी Five Eyes के कहने पर न्यूजीलैंड ने रद्द किया था दौरा

इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चीफ एक्जक्यूटिव वसीम खान ने कहा था कि उन्हें बताया गया है कि न्यूजीलैंड सरकार को Five eyes खुफिया समूह से जानकारी मिली है कि न्यूजीलैंड टीम पर पाकिस्तान में डायरेक्ट अटैक का खतरा मंडरा रहा है. गौरतलब है कि Five eyes एक खुफिया इंटेलीजेंस गठबंधन है और इसमें कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूके और अमेरिका शामिल हैं. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×