scorecardresearch
 

PAK-PoK में हिमस्खलन का कहर, अबतक 93 की मौत, घर-मस्जिद को नुकसान

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की नीलम वैली में हिमस्खलन की वजह से सबसे बड़ा नुकसान हुआ है, यहां अभी तक कुल 66 लोगों की मौत हो गई है.

नीलम वैली की तस्वीर (फोटो: AP) नीलम वैली की तस्वीर (फोटो: AP)

  • हिमालय की पहाड़ियों में बर्फीले तूफान का कहर
  • हिमस्खलन से PAK-PoK में 93 की मौत
  • भारत में भी हुआ है काफी नुकसान

हिमालय की पहाड़ियों में आए बर्फीले तूफान का कहर ना सिर्फ भारतीय हिस्से में दिख रहा है बल्कि पाकिस्तान और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में भी इससे काफी नुकसान हुआ है. हिमस्खलन की वजह से पाकिस्तान और PoK में अभी तक 93 लोगों की मौत हो गई है.

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की नीलम वैली में हिमस्खलन की वजह से सबसे बड़ा नुकसान हुआ है, यहां अभी तक कुल 66 लोगों की मौत हो गई है. पाकिस्तानी मीडिया की अनुसार, यहां 84 घर, 17 दुकानें पूरी तरह से ध्वस्त हो गई हैं. इसके अलावा 94 घर और एक मस्जिद को कुछ हद तक नुकसान हुआ है.

नीलम के डिप्टी कमिश्नर राजा महमूद का कहना है कि हिमस्खलन की वजह से 19 वाहनों को नुकसान हुआ है. जबकि बलूचिस्तान इलाके में 20 की मौत हो गई है और सियालकोट में 7 में मौत का आंकड़ा है. हिमस्खलन के अलावा लगातार हो रही बारिश की वजह से बलूचिस्तान, खैबर-पखतून्वा और PoK में बड़े हाइवे पूरी तरह से बंद हैं.

स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि जिस तरह के हालात दिखाई दे रहे हैं उससे लग रहा है कि मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस मसले पर बैठक की और अधिकारियों को जरूरी एक्शन लेने का आदेश दिया.

भारत में भी हुआ है काफी नुकसान

जम्मू एवं कश्मीर के गांदरबल जिले के ऊंचाई वाले इलाके में हुए हिमस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है. मंगलवार को तीन अन्य शव मिले हैं. गांदरबल जिले के कल्लन क्षेत्र में सोमवार रात हिमस्खलन की चपेट में आने से आठ स्थानीय लोगों का एक दल बर्फ के नीचे दब गया था. इसके बाद घर में फंस गए कई लोगों को सेना, पुलिस और स्थानीय लोगों द्वारा समय पर सहायता प्रदान करने के चलते बचा लिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें