scorecardresearch
 

अमेरिका-ईरान में बढ़ते तनाव पर PAK पीएम इमरान खान ने उठाया ये कदम

अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपना रुख साफ कर दिया है. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान शांति कायम रखने के लिए तैयार है, लेकिन युद्ध का हिस्सा नहीं हो सकता.  

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फोटो-PTI) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फोटो-PTI)

  • विदेश मंत्री कुरैशी ईरान, केएसए और यूएसए जाएंगे
  • जनरल बाजवा करेंगे सैन्य अधिकारियों से बातचीत

अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपना रुख साफ कर दिया है. इमरान खान ने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से ईरान, किंगडम ऑफ सऊदी अरब (KSA) और यूएसए के विदेश मंत्री से मुलाकात करने के लिए कहा है.

प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना प्रमुख जनरल जावेद कमर बाजवा से इन देशों के सैन्य अधिकारियों से बातचीत के जरिए पाकिस्तान का रुख साफ करने के लिए कहा है. अमेरिका और ईरान के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान शांति कायम रखने के लिए तैयार है, लेकिन युद्ध का हिस्सा नहीं हो सकता.   

ईरान ने 'गाल पर तमाचा' बताया

इधर, ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अली खामेनी ने बुधवार को अमेरिका से कहा कि वह क्षेत्र से अपनी सेना हटा ले. खामेनी का यह बयान इराक स्थित दो अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर किए गए मिसाइल हमले के बाद आया. खामेनी ने अमेरिकी ठिकानों पर ईरानी मिसाइल हमले को 'गाल पर तमाचा' बताया.

धार्मिक शहर कोम में दे रहे थे भाषण 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, खामेनी ने कहा, 'हालांकि इस तरह का सैन्य अभियान पर्याप्त नहीं है और महत्वपूर्ण ये है कि क्षेत्र में अमेरिका की गैरवाजिब मौजूदगी खत्म की जाए.' उन्होंने ईरान के धार्मिक शहर कोम में एक भाषण दिया, जिसे सरकारी टीवी पर प्रसारित किया गया.

खामेनी ने भाषण में जनरल कासिम सुलेमानी की बहादुरी की प्रशंसा की. गौरतलब है कि इस्लामिक रिवोल्यूशन गार्ड्स कॉर्प्स के कुद्स फोर्स के कमांडर सुलेमानी अमेरिका द्वारा किए गए एक हवाई हमले में शुक्रवार को मारे गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें