scorecardresearch
 

पाकिस्तान: हिंदू लड़की रीना कुमारी को कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद माता-पिता को सौंपा गया

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में हिंदू होना महापाप हो गया है, खासकर हिंदू लड़कियों की स्थिति बदतर होती जा रही है. इमरान खान के नए पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन के लिए कुख्यात सिंध प्रांत हिंदू लड़कियों के लिए अभिशाप बन चुका है.

पाकिस्तानी हिंदू लड़की रीना कुमारी मेघवार पाकिस्तानी हिंदू लड़की रीना कुमारी मेघवार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पाक में हिंदू लड़कियों संग हो रहा अत्याचार
  • हिंदू लड़की रीना कुमारी को माता-पिता को सौंपा गया
  • अपहरण कर कराया गया था जबरन निकाह

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में हिंदू होना महापाप हो गया है, खासकर हिंदू लड़कियों की स्थिति बदतर होती जा रही है. इमरान खान के नए पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन के लिए कुख्यात सिंध प्रांत हिंदू लड़कियों के लिए अभिशाप बन चुका है. यहां आए दिन हिंदू लड़कियों को जबरन अपहरण करके उनका धर्म परिवर्तन कर निकाह करवा दिया जाता है.

ऐसा ही मामला बीते 13 फरवरी 21 को आया था जब रीना कुमारी मेघवार नाम की लड़की का पहले अपहरण कर लिया गया था और फिर बाद में उसका जबरन धर्म परिवर्तन कर एक अधेड़ मुस्लिम व्यक्ति कासिम खासखली ने निकाह कर लिया था. बाद में यह मुद्दा पाकिस्तान की संसद में भी गूंजा. लेकिन अब रीना मेघवार और उसके माता-पिता के लंबी लड़ाई के बाद आज (26 जुलाई) कोर्ट के कहने पर उसे सिंध प्रान्त की बदीन पुलिस द्वारा उसके माता-पिता के हवाले कर दिया गया.

जिला पुलिस बदिन
बदीन पुलिस ने रीना को उसके माता-पिता को सौंपा

दरअसल, दो दिन पहले रीना कुमारी मेघवार का एक और वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वह रो-रो कर अपने ऊपर जुल्म होने की बात बता रही थी. इस वीडियो के वायरल होने के बाद पाकिस्तान हिन्दू कौंसिल के अध्यक्ष और इमरान खान की सत्ताधारी पार्टी के सांसद रमेश कुमार वंकवानी ने सिंध में बदीन के एसएसपी शब्बीर अहमद सेथर से बात करके रीना मेघवार वापस कोर्ट में लाकर बयान दर्ज कराने का निर्देश दिया था.

इसके बाद पुलिस ने कार्यवाही करते रविवार को सिंध के करियो घंवर कस्बा क्षेत्र से रीना को छुड़ाया और फिर आज सोमवार को बादिन की जिला एवं सत्र अदालत में पेश किया गया. बाद में अगवा रीना मेघवार की छूटने की जानकारी खुद रमेश कुमार वंकवानी ने ट्वीट कर दी.

एसएसपी बदीन ने स्थानीय पत्रकारों से बात करते हुए पुष्टि की कि एक युवा हिंदू लड़की, जिसे रविवार को कारियो घंवर शहर क्षेत्र से पुलिस टीमों द्वारा बचाया गया था, उसे आज सोमवार को बदीन में जिला और सत्र अदालत में पेश किया गया था.

अदालत ने रीना मेघवार के अनुरोध पर उसे अपने माता-पिता के साथ रहने की अनुमति दी. अदालत के आदेश के बाद बदीन एसएसपी शब्बीर अहमद खुद ही अपने कार्यालय में रीना मेघवार को उसके पिता 'रानो मेघवार' और मां 'देवी मेघवार' को सौंप दिया.  इस मामले में मुख्य आरोपी कासिम खसखेली सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

मुख्य आरोपी कासिम खसखेली सहित तीन गिरफ्तार
मुख्य आरोपी कासिम खसखेली सहित तीन गिरफ्तार

इस पहले भी रीना मेघवार ने आरोपी कासिम खासखली के गिरफ़्त से छूटने का कई बार प्रयास किया था. अप्रैल 2021 में ऐसा ही एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमे वह एक मकान के छत पर जा कर लोगों से रो-रो कर मदद की गुहार लगाती हुई दिखी थी, लेकिन किसी ने उस वक्त उसकी मदद नही की थी.

रीना कुमारी मेघवार भाग्यशाली रही और आख़िरकार काफी जद्दोजहद के बाद सकुशल 6 महीने बाद अपने माता-पिता के पास वापस आ गई, लेकिन अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के लिए बदनाम पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन की यह पहली घटना नही है. सिंध के बदीन एवं अन्य जिलों में सैकड़ो हिन्दू लड़कियों का अब तक जबरन इस्लाम कबूल करवा कर धर्म परिवर्तन कराया गया है, जिसमे अधिकतर नाबालिग लड़किया थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें