scorecardresearch
 

PAK को आफरीदी की नसीहत- पहले अपना घर संभालो, फिर करो कश्मीर की चिंता

शाहिद आफरीदी इससे पहले भी कई बार कश्मीर की आजादी और उनसेजुड़े मुद्दों को लेकर बयान दे चुके हैं, जिन्होंने सुर्खियां बटोरी हैं.

हाउस ऑफ कॉमन्स में शाहिद आफरीदी (फोटो- Twitter Profile) हाउस ऑफ कॉमन्स में शाहिद आफरीदी (फोटो- Twitter Profile)

पूर्व पाकिस्तानी ऑलराउंडर शाहिद आफरीदी ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर को लेकर बयान दिया है. आफरीदी के इस बयान पर विवाद हो गया. इंग्लैंड की संसद कही जाने वाली हाउस ऑफ कॉमन्स में आफरीदी ने कहा कि पाकिस्तान को कश्मीर की चिंता नहीं करनी चाहिए.

शाहिद आफरीदी ने कहा कि पाकिस्तान से अपने 4 प्रांत तो संभलते नहीं हैं, इसलिए पाकिस्तान को कश्मीर की चिंता नहीं करनी चाहिए. शाहिद आफरीदी यहां अपनी संस्था शाहिद आफरीदी फाउडेंशन से जुड़े किसी कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए थे.

आपको बता दें कि जब से पूर्व क्रिकेटर इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने हैं, तभी से कश्मीर को लेकर एक बार फिर चर्चाएं तेज हो रही हैं. इमरान ने खुद भी जम्मू-कश्मीर की समस्या को तुरंत सुलझाने की बात कही थी.

कई बार दे चुके हैं कश्मीर पर बयान

गौरतलब है कि इससे पहले भी शाहिद अाफरीदी कश्मीर से जुड़े मुद्दे पर कई बार बोल चुके हैं. पिछले साल भारत में हुए टी-20 विश्वकप के दौरान एक मैच में शाहिद ने कहा था कि हमें सपोर्ट करने के लिए कई लोग कश्मीर से भी आए थे मैं उनका धन्यवाद करता हूं. शाहिद के इस बयान पर भी बवाल मचा था.

बयान के अलावा शाहिद कश्मीर की आज़ादी के समर्थन में काफी ट्वीट कर चुके हैं. उन्होंने 2017 में ट्वीट किया था कि कश्मीर एक जन्नत है जो काफी समय से हिंसा का शिकार होती आई है, अब समय है कि इस मुद्दे को सुलझाया जाए. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा था कि 'आई स्टैंड विथ कश्मीर, कश्मीर सॉलिडेरिटी डे.

शाहिद ने लिखा था,'' भारत के कब्जे वाले कश्मीर में स्थिति नाजुक होती जा रही है. वहां पर आज़ादी की आवाज़ को दबाया जा रहा है और बेगुनाहों को मारा जा रहा है. लेकिन यह देख कर हैरानी हो रही है कि अभी तक सयुंक्त राष्ट्र कहां पर है. संयुक्त राष्ट्र इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए कोई कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा है''.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें