scorecardresearch
 

ट्रंप की नई ट्रैवेल बैन लिस्ट में उत्तर कोरिया, वेनेजुएला समेत ये 8 देश

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर ट्रैवल बैन लगाया है. ट्रैवल बैन की लिस्ट में उत्तर कोरिया और वेनेजुएला का भी नाम है. साथ ही इस बैन लिस्ट में ईरान, चाड, लिबिया, सीरिया, यमन और सोमालिया का नाम है.

X
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर ट्रैवल बैन वाली एक नई सूची जारी की है. ट्रैवल बैन की लिस्ट में उत्तर कोरिया और वेनेजुएला सहित 8 देशों के नाम शामिल है. इन देशों के नागरिकों पर ट्रैवल बैन लगाने के लिए खराब सुरक्षा जांच और अमेरिकी अधिकारियों के साथ समुचित सहयोग न करने का हवाला दिया गया है

ट्रैवल बैन लिस्ट में ये 8 देश 

इस बैन लिस्ट में उत्तर कोरिया, वेनेजुएला, ईरान, चाड, लिबिया, सीरिया, यमन और सोमालिया का नाम है. वहीं सूडान के नागरिकों पर से प्रतिबंध हटा दिए गए.

मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक लगाने की कोशिश

ट्रंप ने कल नए प्रतिबंध जारी किए जो खत्म हो रहे पहले के आदेश का स्थान लेंगे. ट्रैवल बैन के पहले आदेश ने उन्हें राजनीतिक और कानूनी पचड़े में फंसा दिया था. आलोचकों ने आरोप लगाया था कि जनवरी में कार्यभार संभालने के बाद से ही ट्रंप देश में मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक लगाने की कोशिश में है. बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इससे पहले भी सात मुस्लिम देशों पर ट्रैवल बैन लगाया था, जो इस वक्त कोर्ट में लंबित पड़ा हुआ है.

अमेरिका सुरक्षा पहली प्राथमिकता

ट्रंप ने एक ट्वीट कर कहा, 'अमेरिका को सुरक्षित बनाना उनकी पहली प्राथमिकता है. हम उन लोगों को अपने देश में प्रवेश नहीं करने देंगे जिनकी हम ठीक तरीके से सुरक्षा जांच नहीं कर सकते हैं.  बता दें कि सूडान मुस्लिम बहुल उन छह देशों में से एक था जिन पर पहले प्रतिबंध लगाया था. हालांकि अब नई सूची में सूडान का नाम हटा लिया गया है. अमेरिका की यात्रा पर करने की लगी नई रोक वाली सूची में अब आठ देश हैं जिनपर पूर्ण या आंशिक रोक है.

उत्तर कोरिया पर पूर्ण रोक

उत्तर कोरिया और चाड के नागरिकों पर पूर्ण रोक है जबकि वेनेजुएला के सरकारी अधिकारियों और उनके परिवारों पर ही यात्रा रोक लगाई गई है. 

कार्रवाई जरूरी

नए आदेश में उन्होंने कहा कि देशों पर उनके नागरिकों की पहचान करने की प्रक्रिया में सुधार करने और अमेरिका के साथ जानकारी साझा करने के लिए दवाब बनाने के वास्ते यह कार्रवाई जरूरी है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि यह सूची विदेश नीति , राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंकवाद की रोकथाम के लक्ष्यों के लिए बनाई गई है.

प्रतिबंध शर्त आधारित

एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि यह प्रतिबंध राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अहम है. साथ ही उन्होंने कहा कि ये प्रतिबंध शर्त आधारित हैं न कि समय आधारित है. उन्होंने कहा कि अगर कोई देश अमेरिका की यात्रा जांच के मानकों को पूरा करता है तो उसका नाम सूची से हटाया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें