scorecardresearch
 

मोदी के शपथ ग्रहण के दौरान अपनी भारत यात्रा से खुश नहीं हैं पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ

भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के सिलसिले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की यात्रा जिस ढंग से ली, उससे शरीफ ज्यादा खुश नहीं हैं.

भारत यात्रा के दौरान पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ भारत यात्रा के दौरान पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ

जहां एक ओर देश के नए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने शपथ ग्रहण समारोह में सभी सार्क देशों के शीर्ष राजनयिकों को निमंत्रण देने पर वाहवाही हो रही है वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान से जो एक खबर आ रही है वो कुछ निराशाजनक है.

खबर ये है कि भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के सिलसिले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की यात्रा जिस ढंग से ली, उससे शरीफ ज्यादा खुश नहीं हैं.

पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पीएमएल-एन के वरिष्ठ सदस्य ने डॉन न्यूज को बताया कि दोनों प्रधानमंत्रियों की आपसी बैठक के बाद जब उनका संयुक्त संवाददाता सम्मेलन नहीं हुआ तब शरीफ को कमतर आंके जाने का अहसास हुआ.

अखबार के मुताबिक उसके अलावा शरीफ का प्रतिनिधिमंडल एक संयुक्त बयान की उम्मीद कर रहा था लेकिन ऐसा कोई बयान जारी नहीं हुआ, उल्टे, भारत ने एकतरफा बयान जारी कर दिया जिसमें पाकिस्तान का रुख शामिल नहीं था.

उनके पार्टी सहयोगी ने अखबार से कहा, ‘शरीफ नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के सिलसिले में अपनी यात्रा के दौरान भारत में भेंट मुलाकात के तौर तरीके से ज्यादा खुश नहीं हैं.’ इस पीएमएल-एन सदस्य ने कथित रूप से कहा कि भारत के बयान में शरीफ को लेकर सरसरी तौर पर उल्लेख था और उनकी उपस्थिति के महत्व को उपयुक्त रूप से स्वीकार नहीं किया गया था.

उन्होंने दावा किया कि भारत की रूखी और अनपयुक्त प्रेस रिलीज ने उन्हें अपना संवाददाता सम्मेलन करने के लिए बाध्य किया जहां उन्होंने बड़ी सावधानी से तैयार बयान पढ़ा ताकि यात्रा से जो कुछ हासिल हुआ, वह व्यर्थ न चला जाए.

इस पीएमएल-एन सदस्य ने कहा कि पाकिस्तान सरकार अब दोनों देशों के बीच सचिव स्तर की वार्ता से भारत के साथ संबंध सुधारने में कुछ उपलब्धि मिलने की आस लगायी हुई है. शरीफ की भारत यात्रा के दौरान इस पर सहमति बनी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें