scorecardresearch
 

Corona: अमेरिका में छह साल से कम उम्र के बच्चों के लिए मॉडर्ना वैक्सीन, जून में होगा रिव्यू

मॉडर्ना के वैक्सीन को 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए अप्रूव किया जा चुका है. हालांकि ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और यूरोपीय संघ में अप्रूवल के बावजूद अमेरिका में इसे 6 से 17 साल के बच्चों के लिए अभी तक अप्रूवल नहीं दिया गया है.

X
मॉडर्ना कोरोना वैक्सीन. -फोटो- रॉयटर्स. मॉडर्ना कोरोना वैक्सीन. -फोटो- रॉयटर्स.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमेरिका में 6 से 17 साल के बच्चों के लिए भी अप्रूवल मिला बाकी
  • मॉडर्ना एक और बूस्टर डोज का कर रही टेस्टिंग

छह साल से कम उम्र के बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए मॉडर्ना कंपनी की वैक्सीन जून में रिव्यू के लिए तैयार हो जाएगी. फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन पैनल वैक्सीन की समीक्षा करेगी. इस संबंध में रविवार को मॉडर्ना के चीफ मेडिकल ऑफिसर ने जानकारी दी. मॉडर्ना ने गुरुवार को FDA से इमरजेंसी यूज की मांग भी की.

अमेरिकी दवा नियामक के विशेषज्ञों का एक सलाहकार पैनल इमरजेंसी यूज की मांग की समीक्षा के लिए जून में बैठक करेगा. कंपनी के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर पॉल बर्टन ने एक इंटरव्यू में कहा, "मुझे लगता है कि FDA के पास अब सभी डेटा हैं जिसके जरिए वे मांग की समीक्षा शुरू कर सकते हैं और हम इसके लिए आश्वस्त हैं. 

5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए मॉडर्ना का वैक्सीन अमेरिका से अप्रूवल लेने वाला पहला वैक्सीन हो सकता है. फाइजर को भी उम्मीद है कि जून की समीक्षा तक 6 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए इसका टीका डेटा तैयार हो जाएगा.

अमेरिका में 6 से 17 साल के बच्चों के लिए भी अप्रूवल बाकी

मॉडर्ना कंपनी के CMO बर्टन ने कहा कि सबसे कम उम्र के बच्चों की सुरक्षा के लिए वैक्सीन को लेकर सारी चीजें आश्वस्त करने वाली हैं.

बता दें कि मॉडर्ना के वैक्सीन को FDA की ओर से 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के उपयोग के लिए अप्रूव किया जा चुका है. हालांकि ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और यूरोपीय संघ में अप्रूवल के बावजूद अमेरिका में इसे 6 से 17 साल के बच्चों के लिए इसे अभी तक अप्रूवल नहीं दिया गया है. अमेरिकी रेग्यूलेटर्स ने कंपनी से वैक्सीन के कारगर होने के संबंध में और अधिक डेटा मांगा है. 

मॉडर्ना एक और बूस्टर डोज का कर रही टेस्टिंग

बर्टन ने रविवार को कहा कि कंपनी एक और बूस्टर डोज का परीक्षण कर रही है. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि कंपनी की ओर से 19 अप्रैल को घोषित बूस्टर डोज का परिणाम बेहतर होगा. उन्होंने बताया कि बूस्टर डोज बीटा वैरिएंट और मूल कोरोनावायरस को टार्गेट करते हैं. उन्होने कहा कि मॉडर्ना को उम्मीद है कि नया बूस्टर डोज ओमिक्रॉन और कोरोना के अन्य वैरिएंट से बचाने में कारगर साबित होगा. 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें