scorecardresearch
 

ये होगी ट्रंप की कोर टीम, जानें क्या है इनकी खासियत...

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प आज शपथ लेने जा रहे हैं. उन्होंने अपने कैबिनेट और अन्य वरिष्ठ पदों पर खास सिपहसालार का चयन कर लिया है. हालांकि इसमें उन पर कुनबापरस्ती और हितों के टकराव को नजरअंदाज करने का भी आरोप लगा है, क्योंकि इस टीम में खुद ट्रम्प के दामाद कुशनेर भी शामिल हैं.

अमेरिका के निर्वाचि‍त राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के निर्वाचि‍त राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प आज शपथ लेने जा रहे हैं. उन्होंने अपने कैबिनेट और अन्य वरिष्ठ पदों पर खास सिपहसालार का चयन कर लिया है. हालांकि इसमें उन पर कुनबापरस्ती और हितों के टकराव को नजरअंदाज करने का भी आरोप लगा है, क्योंकि इस टीम में खुद ट्रम्प के दामाद कुशनेर भी शामिल हैं. आइए जानते हैं कि कौन होंगे अमेरिका के प्रमुख मंत्री, अध‍िकारी और क्या है उनकी खासियत...

1. विदेश मंत्री, रेक्स टिलरसन
ट्रम्प ने एक्सनमोबिल कॉरपोरेशन के सीईओ रेक्स टिलरसन का चयन फर्स्ट सेक्रेटरी ऑफ स्टेट यानी विदेश मंत्री के रूप में किया है. सामरिक मामलों के विशेषज्ञ मनोज जोशी बताते हैं, 'टिलरसन के पास सरकार या सेना में काम करने का कोई अनुभव नहीं है. रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन के साथ उनके लंबे समय तक कारोबारी रिश्ते रहे हैं. वह जलवायु परिवर्तन को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए कोई खतरा नहीं मानते.

2. रक्षा मंत्री, जनरल (रिटायर्ड) जेम्स मैटिस
अमेरिकी मरीन कॉर्प्स में करीब 41 साल की लंबी सेवा के बाद रिटायर हुए जनरल मैटिस ने अफगानिस्तान, ईराक और खाड़ी युद्ध में सेना का नेतृत्व किया है. ब्रुकिंग्स के फेलो ध्रुव जयशंकर के अनुसार, 'हाल तक वह सेंट्रल कमांड चीफ थे. वह पिछले सात साल में भी नौकरी में थे, इसलिए कांग्रेस को उनकी नियुक्ति के लिए कानून बदलने की जरूरत होगी. वह इस्लामिक स्टेट के खिलाफ अमेरिकी युद्ध के प्रमुख नीति निर्धारक हो सकते हैं. ट्रम्प के विपरीत रूस के मामले में मैटिस का रुख सख्त रहा है और वह ईरान से हुए न्यूक्लियर डील के भी समर्थक रहे हैं.'

3. वाणिज्य मंत्री, विल्बर रॉस
अरबपति निवेशक विल्बर निवेश फर्म डब्ल्यू एल रॉस ऐंड सीओ रॉस के संस्थापक हैं. फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार उनकी संपदा करीब 2.9 अरब डॉलर की है. वह ट्रम्प के चुनाव अभियान के दौरान उनके प्रमुख आर्थ‍िक सलाहकार रहे हैं. वह 'खराब व्यापारिक समझौतों' को रद्द करने के समर्थक हैं. इसी तरह वह व्यापार संतुलन के लिए चीन के खिलाफ टैरिफ थोपने के समर्थक भी हैं.

4. वित्त मंत्री, स्टीवन म्नुचिन
गोल्डमैन सैक्स के पूर्व कार्यकारी स्टीवन ने 17 साल तक इस कंपनी में मुख्य सूचना अध‍िकारी का दायित्व निभाया है. इसके अलावा वह दो कंपनियों ड्यून कैपिटल मैनेजमेंट तथा रैटपैक ड्यून एंटरटेनमेंट के संस्थापक भी रहे हैं. वह वित्तीय बाजार में सरकार की उधारी की व्यवस्था देखेंगे और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश के ख‍िलाफ लगने वाले वित्तीय प्रतिबंधों को दूर कराने में मदद करेंगे.

5. संयुक्त राष्ट्र में राजदूत, निक्की हेली
भारतीय मूल की निक्की हेली साउथ कैरोलिना की गवर्नर रही हैं. ओआरएफ के वाइस प्रेसिडेंट समीर सरन के अनुसार वह ट्रम्प कैबिनेट में विविधता लाने वाली शख्स हैं और विविध मसलों पर सुरक्षा परिषद में प्रमुख अमेरिकी चेहरा होंगी.

6. राष्ट्रपति के मुख्य सलाहकार, जैरेड कुशनेर
न्यूयॉर्क के रियल एस्टेट कारोबारी और ट्रम्प के दामाद जैरेड कुशनेर अमेरिकी राष्ट्रपति के मुख्य सलाहकार होंगे. कॉलमिस्ट सदानंद धुमे के अनुसार इवांका के पति कुशनेर अपने ससुर ट्रम्प के काफी करीबी है. हालांकि उनकी नियुक्ति को लेकर कुनबापरस्ती और हितों के टकराव का मसला भी छाया रहा है.

7. गृहमंत्री, जनरल जॉन केली
रिटायर्ड जनरल जॉन केली अमे‍रिकी साउदर्न कमांड के पूर्व कमांडर रहे हैं. उन्होंने विदेशी मिशनों में कई बार अमेरिकी सेना का नेतृत्व किया है. उन्हें दक्षिण और मध्य अमेरिका में बॉर्डर पुलिसिंग और ड्रग कारोबार पर अंकुश का अनुभव है.

8. सीआईए डायरेक्टर, माइक पोम्पेओ
पूर्व सैन्य अध‍िकारी पोम्पेओ का कहना है कि वह प्रताड़ना को बढ़ावा नहीं देंगे, लेकिन ट्रम्प कठोर पूछताछ के समर्थक हैं. माइक सीआईए की आधुनिकीकरण योजना के प्रमुख होंगे.

9. एनएसए, माइकल टी फ्लिन
आर्मी के रिटायर्ड जनरल माइकल टी फ्लिन ट्रम्प प्रशासन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA)होंगे. इस्लामी आतंकियों के खतरे पर वह अपने मुखर विचारों के लिए जाने जाते हैं. वह विदेश मंत्रालय, पेंटागन और अन्य एजेंसियों के काम पर नजर रखेंगे.

10. चीफ ऑफ स्टाफ, रेइंस प्रिएबस
डोनाल्ड ट्रम्प के चीफ ऑफ स्टाफ (COS) बनने जा रहे रेइंस इसके पहले रिपब्ल‍िकन नेशनल कमिटी के चेयरमैन थे. उन्हें करार कराने का विशेषज्ञ माना जाता है. उन्हें व्हाइट हाउस में नीति निर्धारण का मुखिया बनाया जा सकता है.

11. चीफ स्ट्रेटेजिस्ट, स्टीफन के बैन्नोन
बैन्नोन एक दक्षिणपंथी मीडिया एक्जिक्यूटिव रहे हैं. उनका अतीत काफी विवादास्पद रहा है. अपने नस्ली विचारों के कारण उन्हें कई बार आलोचना का सामना करना पड़ा है. ट्रम्प का कहना है कि बैन्नोन और रेइंस समान साझेदार की तरह मिलकर काम करेंगे.


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×