scorecardresearch
 

कोरोना के बहाने बिडेन ने ट्रंप को घेरा, कहा- मैं राष्ट्रपति होता तो पूरा अमेरिका बंद कर देता

एक इंटरव्यू में बिडेन ने कहा कि लोगों की जिंदगी बचाने के लिए मैं वह सबकुछ करता जो जरूरी होता. उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं हो जाता देश को खुला नहीं रखा जा सकता. बिडेन ने मौजूदा ट्रंप प्रशासन पर कोरोना को लेकर बुनियादी गलती करने का आरोप लगाया.

X
जो बिडेन जो बिडेन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना पर बिडेन का बयान
  • कहा- अमेरिका बंद कर देता
  • ट्रंप के एक्शन पर उठाए सवाल

अमेरिका में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार जारी है. संक्रमितों के साथ-साथ मृतकों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बीच पूर्व राष्ट्रपति जो बिडेन ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा है कि अगर वे राष्ट्रपति होते और वैज्ञानिक उन्हें कोरोना को देखते हुए देश बंद करने की सलाह देते तो वे ऐसा कर सकते थे.

बिडेन ने एबीसी टीवी को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि अगर वे अमेरिका के राष्ट्रपति होते और कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए वैज्ञानिक पूरे देश को बंद करने की सलाह देते तो वे इसका पालन जरूर करते. बिडेन गुरुवार को एबीसी टीवी के प्रोग्राम 'वर्ल्ड न्यूज टूनाइट' में अपनी बात रख रहे थे.

'जिंदगी बचाने के लिए सबकुछ करता'

इंटरव्यू में बिडेन ने कहा, मैं इसे (देश) बंद कर देता. मैं वैज्ञानिकों की बात जरूर सुनता. बिडेन के साथ इंटरव्यू में उनकी उपराष्ट्रपति उम्मीदवार कमला हैरिस भी थीं. हैरिस फिलहाल सीनेटर हैं. इंटरव्यू में दोनों एक साथ शामिल हुए थे. बिडेन और हैरिस का पहली बार एक साथ इंटरव्यू था. बता दें कि जो बिडेन और कमला हैरिस डेमोक्रेटिक पार्टी के क्रमश: राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति उम्मीदवार हैं. 

एबीसी टीवी को दिए इंटरव्यू में बिडेन ने कहा कि लोगों की जिंदगी बचाने के लिए मैं वह सबकुछ करता जो जरूरी होता. उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं हो जाता देश को खुला नहीं रखा जा सकता. बिडेन ने मौजूदा ट्रंप प्रशासन पर कोरोना को लेकर बुनियादी गलती करने का आरोप लगाया. बिडेन ने कहा कि देश को चलाने के लिए, अर्थव्यवस्था जारी रखने के लिए और लोगों के रोजगार बनाए रखने के लिए कोरोना पर नियंत्रण करना जरूरी है. वायरस के खिलाफ सख्ती से निपटना जरूरी है. 

ट्रंप ने दिया था ये बयान

बिडेन का यह बयान इसलिए अहम है क्योंकि ट्रंप ने कहा था कि कोरोना वायरस को देखते हुए पूरे देश को बंद नहीं रखा जा सकता. उन्होंने कहा था हम देश की इकोनॉमी को पूरी तरह बंद नहीं रख सकते.

गौरतलब है कि दुनिया में अमेरिका कोरोना से अब भी सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका 5,746,272 मामलों और संक्रमण से हुई 177,424 मौतों के साथ दुनिया में सबसे प्रभावित देशों की सूची में शीर्ष पर बना हुआ है. जबकि ब्राजील 3,501,975 संक्रमण और 112,304 मौतों के साथ दूसरे स्थान पर है. पूरी दुनिया की बात करें तो कोरोना वायरस के मामले अब भी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. शुक्रवार सुबह तक दुनिया में कुल कोरोना केस की संख्या 2.27 करोड़ के आंकड़े को पार कर गई है. जबकि मौतों की संख्या 7.97 लाख तक पहुंच गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें