scorecardresearch
 

सुलेमानी के इंतकाम की आग में ईरान को भारी पड़ गई अपनी ही 'गलती'

तेहरान स्थित आमिर कबीर यूनिवर्सिटी के छात्र बड़ी संख्या में सड़कों पर उतरे हैं और यूक्रेनी विमान को मारे जाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्रों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया है.

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खमनई (PTI) ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खमनई (PTI)

  • ईरान ने माना-भूलवश मार दिया यूक्रेन का विमान
  • इस कबूलनामे के बाद खमनेई के खिलाफ विरोध तेज

ईरान की एक 'गलती' उसके लिए बड़ी मुसीबत बन गई है. ईरानी सरकार ने दावा किया है कि भूलवश उसने तेहरान में यूक्रेन के एयरलाइन को मार गिराया जिसमें 176 लोगों की मौत हो गई. ईरान के इस कबूलनामे के बाद अब उसी के नागरिक विरोध प्रदर्शनों में सड़कों पर उतर गए हैं. कुछ ही दिन पहले ईरान ने एक अमेरिकी हमले में अपने सर्वोच्च कमांडर कासिम सुलेमानी को खो दिया और अब उसे अपने लोगों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है.

ईरान ने शनिवार को माना कि उसने ही तेहरान के बाहरी इलाके में यूक्रेन के विमान को भूलवश मार गिराया था. ईरान ने इसे 'मानवीय भूल' कहा है. इस मामले में राष्ट्रपति हसन रूहानी ने एक ट्वीट करते हुए कहा, "इस विनाशकारी गलती के लिए ईरान को बहुत खेद है. पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है. मैं तहे दिल से संवेदना व्यक्त करता हूं." ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने ट्वीट किया, "बेहद पछतावा है. सभी पीड़ित परिवारों और अन्य प्रभावित देशों के प्रति संवेदना और माफी."

ईरानी सरकार के खिलाफ विरोध

सरकार के इस कबूलनामे के बाद ईरान की सड़कों पर विरोध प्रदर्शन भड़क उठे हैं. लोगों को 'तानाशाह को फांसी दो (डेथ टू डिक्टेटर)' जैसे नारे लगाते सुना जा रहा है. तेहरान स्थित आमिर कबीर यूनिवर्सिटी के छात्र बड़ी संख्या में सड़कों पर उतरे हैं और यूक्रेनी विमान को मारे जाने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्रों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया है.    

आईआरजीसी के इस कबूलनामे के बाद तेहरान में विरोध तेज हो गया है. प्रदर्शनकारी नारेबाजी कर रहे हैं जिसमें सर्वोच्च नेता खमनेई को हत्यारा तक बताया जा रहा है. लोगों ने नारेबाजी में कहा- खमनेई हत्यारा है और उसका नेतृत्व गैर-कानूनी है. नारे में यह भी कहा जा रहा है कि 'इस्लामिक शासन को खत्म किया जाए.'

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खमनेई ने शनिवार को माना था कि भूलवश यूक्रेनी विमान को मार गिराया गया क्योंकि अमेरिकी बोइंग विमान भी उसी के आसपास मंडरा रहा था. खमनेई की इस बात के बाद ईरान में बड़ी संख्या में छात्र सड़कों पर उतर गए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. इसमें आमिर कबीर और शरीफ यूनिवर्सिटी के छात्र हिस्सा ले रहे हैं.

सरकार विरोधी प्रदर्शनों में मृतक कमांडर कासिम सुलेमानी के खिलाफ भी नारेबाजी हो रही है. यूनिवर्सिटी के छात्र नारे में बोल रहे हैं-सुलेमानी हत्यारा है, अली खमनेई भी हत्यारा है. ईरान ने शनिवार को कहा कि तेहरान के बाहरी इलाके में यूक्रेन के विमान को गलती से मार गिराया गया था. ईरान ने इसे मानवीय भूल कहा है. विमान एक संवेदनशील सैन्य ठिकाने के करीब उड़ान भर रहा था, तभी उसे मार गिराया गया था. तेहरान स्थित प्रेस टीवी के मुताबिक, शनिवार को जारी एक बयान में ईरान के सशस्त्र बलों के जनरल स्टाफ ने कहा कि बुधवार को दुर्घटना के समय सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया था.

ईरानी लोगों के साथ ट्रंप

ईरान से जारी तनातनी के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के तेवर नरम पड़ते दिख रहे हैं. राष्ट्रपति ट्रंप ने शनिवार को कहा कि वे हमेशा ईरानी लोगों के साथ खड़े हैं और उनकी नाराजगी पर गौर कर रहे हैं जब से ईरानी सरकार ने एक विमान को मार गिराने का दावा किया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्वीट में लिखा, 'ईरान के बहादुर, लंबे समय से पीड़ित लोगों के लिए: मैं अपनी प्रेसीडेंसी की शुरुआत से आपके साथ खड़ा हूं और मेरा प्रशासन आपके साथ खड़ा रहेगा'. ट्रंप ने ट्वीट में लिखा है, 'हम आपके विरोध पर बारीकी से नजर रख रहे हैं और आपके साहस से प्रेरित हैं.' राष्ट्रपति ट्रंप ने फारसी में भी यही बात ट्वीट किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें