scorecardresearch
 

चीन में बाढ़ का कहर, 12 लोगों की मौत, बही गाड़ियां, एक लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया

चीन में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, वहीं कई लोग सड़कों पर जल जमाव की वजह से फंसे रह गए. कई गाड़ियां बाढ़ में बह गईं. चीन में कई जगह 8 इंच से ज्यादा बारिश हुई है.

चीन में बाढ़ और बारिश से बेहाल हुए लोग (तस्वीर-AP) चीन में बाढ़ और बारिश से बेहाल हुए लोग (तस्वीर-AP)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पानी की वजह से डूबी सड़कें
  • बही गाड़ियां, दफ्तरों में फंसे रहे लोग
  • मेट्रो और अन्य सेवाएं रहीं बाधित

भारी बारिश और बाढ़ की वजह से चीन में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, वहीं सैकड़ों लोग लगातार हो रही मूसलाधार बारिश और सड़कों के पानी में डूब जाने की वजह से सब-वे, स्कूल और दफ्तरों में फंसे रह गए. बाढ़ में कई गाड़ियां भी बह गईं वहीं कई जगह बड़ी क्षति की बात भी सामने आई है.

चीन की आधिकारिक सिन्हुआ समाचार एजेंसी ने हेनान मौसम विभाग का हवाला देते हुए कहा कि हेनान प्रांत की राजधानी झेंग्झौ में मंगलवार शाम 4 से 5 बजे के बीच तक करीब 20 सेंटीमीटर (8 इंच) बारिश हुई.

मूसलाधार बारिश की वजह से सड़कें तेज बहने वाली नदियों जैसी नजर आईं. सब-वे स्टेशन और कारों तक में पूरी तरह से पानी भर गया, जिसकी वजह से कई गाड़ियां भी बहती नजर आईं. चीन की सोशल मीडिया पर कई वीडियो भी बाढ़ से संबंधित वायरल हो रहे हैं. एक वीडियो में एक मोहल्ले के कई घर पानी में डूबे नजर आए. 

जर्मनी में बाढ़ की वजह से बना घाटी जैसा गहरा और बड़ा सिंकहोल, डरावनी तस्वीरें... 

शाओलिन मंदिर भी प्रभावित

झेंग्झौ के उत्तर में स्थित प्रसिद्ध शाओलिन मंदिर जो अपने बौद्ध भिक्षुओं की मार्शल आर्ट में महारत के लिए जाना जाता है, बुरी तरह प्रभावित हुआ है. हेनान प्रांत में कई सांस्कृतिक और धार्मिक स्थल हैं, जिनपर दुनियाभर की नजर रहती है. यह प्रांत उद्योगों और कृषि के लिए जाना जाता है.

1 लाख लोगों का हुआ रेस्क्यू

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक कुल 12 लोगों की मौत हुई है और 1,00,000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. बाढ़ में जो लोग फंस गए हैं, वे या तो अपने दफ्तरों में रुके हुए हैं, या होटलों में हैं. 

भारी बारिश पर क्या बोले नागरिक?

56 वर्षीय रेस्तरां मैनेजर वांग गुइरोंग ने कहा कि उसे अपने रेस्तरां में सोफे पर ही सोना पड़ा क्योंकि उसके आवासीय क्षेत्र में बिजली की सप्लाई नहीं है. स्टेट ग्रिड झेंग्झौ पॉवर सप्लाई कंपनी का कहना है कि बारिश की वजह से डाउनटाउन सबस्टेशन को बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा.

 

लोगों का कहना है कि ऐसी भीषण तूफान वाली बारिश उन्होंने अपनी जिंदगी में नहीं देखी है. चीन में मॉनसून के दिनों में अक्सर भारी बाढ़ और बारिश आती है. लेकिन लगातार सिमटते खेत और शहरों के बढ़ते दायरे की वजह से ऐसी स्थितियां हाल के वर्षों में ज्यादा बढ़ी हैं.
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें