scorecardresearch
 

ट्रंप ने दिया US फर्स्ट का नारा, कहा- इस्लामिक टेरेरिज्म को धरती से मिटा देंगे

डोनाल्ड जॉन ट्रंप ने राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली है. वे अमेरिका के 45 वें राष्ट्रपति बने. उन्हें अमेरिका के चीफ जस्टिस ने शपथ दिलाई. 70 साल के ट्रंप ने लिंकन और अपनी मां की दी हुई बाइबल पर हाथ रखकर शपथ ली.

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

डोनाल्ड जॉन ट्रंप ने राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली है. वे अमेरिका के 45 वें राष्ट्रपति बने. उन्हें अमेरिका के चीफ जस्टिस ने शपथ दिलाई. 70 साल के ट्रंप ने लिंकन और अपनी मां की दी हुई बाइबल पर हाथ रखकर शपथ ली. उनसे पहले वाइस-प्रेसिडेंट माइक पेंस ने शपथ ली. बता दें कि नवंबर में हिलेरी क्लिंटन को हराकर राष्ट्रपति पद का चुनाव जीता था.

ट्रंप की पहली स्पीच की 10 बड़ी बातें- यहां पढ़ें

बतौर राष्ट्रपति ट्रंप की पहली स्पीच
शपथ के बाद अपनी पहली स्पीच में ट्रंप ने कहा- दुनिया भर के लोगों का धन्यवाद. हम अमेरिका के नागरिक आज एक बड़े राष्ट्रीय प्रयास से जुड़े हैं. हम लोगों के लिए एकजुट हुए हैं. हम लोग मिलकर ये निश्चय करेंगे कि कई वर्षों तक साथ रहेंगे. चुनौतियों का सामना करेंगे, इसके बावजूद अपने कार्य करने में सफल होंगे. हम चाहेंगे कि शांति भी रहे. हम आभारी हैं ओबामा और मिशेल ओबामा के जो यहां मौजूद रहे. उन्होंने काफी काम किया है. आज की सेरेमनी बहुत अहम है.

आज से जनता का शासन होगा
ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा- आज सत्ता का परिवर्तिन एक से दूसरे पर नहीं जा रहा बल्कि आज से हम लोगों के हाथ में सत्ता दे रहे हैं, जो स्ट्रगल कर रहे हैं उनके लिए क्या कर सकते हैं. हम सभी इस बात को जानते हैं कि ये आपकी सरकार है. ये सत्ता जनता की है. साल 2017 इस बात के लिए यादगार रहेगा कि इस दिन लोग इस राष्ट्र के पुनः शासक बन गए. जो महिला-पुरुष भुला दिए गए थे उनको अब भुलाया नहीं जाएगा. इस ऐतिहासिक मौके पर आज आप लाखों की संख्या में आए हैं. इस आंदोलन में देखना ये है कि राष्ट्र सदा बना रहता है और अमेरिकन महान हैं, वो सुरक्षित रहना चाहते हैं, लोगों को उनका ये अधिकार मिलना चाहिए. बच्चों, तथा महिलाओं की स्थिति सुधरनी चाहिए. ड्रग्स ने जिस तरह युवाओं को बर्बाद किया है उसे हमें रोकना है, आज से अभी से रोकना है.

अमेरिका के मिस्टर प्रेसिडेंट बने ट्रंप, पढ़ें 12 मिनट की पूरी स्पीच


हम एक राष्ट्र हैं और उनका दुख हमारा दुख है, उनके सपने हमारे सपने हैं उनकी सफलता हमारी सफलता होगी. हम एकजुट होकर अपने लक्ष्य की ओर बढ़ेंगे इसी बात की मैंने आज शपथ ली है. कई दशकों तक हम देखते रहे कि विदेशी उद्योग पनपता रहा और अमेरिकी उद्योग पीछे रह गया. हमने दूसरे देशों के सीमाओं की सुरक्षा की लेकिन हम अपनी सीमाओं की रक्षा नहीं कर पाए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के नए राष्ट्रपति को बधाई दी.

हमने जितनी दौलत थी उसे दुनिया को बांट, पर अब इसे रोकेंगे
हमने ट्रिलियन डॉलर खर्च कर दिए, दूसरे देशों को अमीर बनाया लेकिन हमारा विश्वास कम हो गया. हमारे कारखाने बंद होते चले गए, यहां तक कि जो लाखों अमेरिकन काम करने वाले थे वो पीछे रह गए. मिडिल क्लास इससे अत्यधिक प्रभावित हुआ. हमने जितनी दौलत थी उसे दुनिया को बांटा लेकिन अब इसे रोकना है.

अमेरिका में बनी ट्रंप सरकार, देखें शपथ समारोह की खास तस्वीरें

सबसे पहले अमेरिकियों का ख्याल
हमारी आवाज हर घर में सुनी जाए. आज से हम एक नया विजन लेकर आगे आएंगे। सबसे पहले हम अमेरिका की सोचेंगे. चाहे वो इमिग्रेशन हो, व्यापार हो, कुछ भी हो सबसे पहले अमेरिका और अमेरिकियों के लोगों के हितों का ख्याल रखा जाएगा. हम अपने रोजगार वापस लाएंगे, अपनी दौलत, अपने सपनों को फिर से वापस लाएंगे. अमेरिकी लोगों, अमेरिकी मजदूरों से इस देश को बनाएंगे. इस देश में अमेरिकी लोग योगदान देंगे. हम दूसरों के साथ भी संपर्क बनाएंगे लेकिन पहले अपना हित देखेंगे.

ट्रंप के शपथ समारोह में पहुंची हस्तियां
बराक ओबामा पत्नी मिशेल के साथ पहुंचे थे. हिलेरी क्लिंटन अपने पति बिल क्लिंटन के साथ शपथ समारोह स्थल पर पहुंचे. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश भी सेरेमनी में नजर आए. इसके अलावा सेरेमनी में करीब 10 लाख लोग पहुंचे.

ट्रंप का विरोध
वॉशिंगटन डीसी के लॉगन सर्किल में करीब 200 विरोधियों ने प्रदर्शन किया. कई मॉस्क और ब्लैक ड्रेस पहन कर विरोध कर रहे थे. बता दें कि शपथ समारोह का अपोजिशन के सांसदों ने बायकॉट भी किया. सेरेमनी में डेमोक्रेटिक पार्टी के 60 सांसद शामिल नहीं हुए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें