scorecardresearch
 

बांग्लादेश में एक और पुजारी की हत्या, धारदार हथियार से वार कर फरार हो गए बदमाश

राजधानी ढाका से दक्षिण पश्चिम में 300 किलोमीटर दूर झिन्‍याद जिले में एक मंदिर के पास से 45 वर्षीय श्‍यामनोन्‍दा का शव बरामद हुआ था.

राजधानी ढाका से 300 किमी दूर हुई वारदात राजधानी ढाका से 300 किमी दूर हुई वारदात

बांग्‍लादेश में एक बार फिर एक हिंदू पुजारी की हत्या कर दी गई है. स्‍थानीय पुलिस ने बताया शुक्रवार सुबह झिन्‍याद जिले में तीन मोटरसाइकिल सवार हमलावरों ने पुजारी पर किसी धारदार हथियार से वार किया, जिससे उनकी तत्काल मौत हो गई. हत्या के कारणों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है.

पुलिस के मुताबिक, राजधानी ढाका से दक्षिण पश्चिम में 300 किलोमीटर दूर झिन्‍याद जिले में एक मंदिर के पास से 45 वर्षीय श्‍यामनोन्‍दा का शव बरामद हुआ था. झिन्‍याद जिले के प्रशासनिक अधिकारी महबूबर रहमान ने बताया कि शुक्रवार सुबह पुजारी श्‍यामनोन्‍दा सुबह की पूजा के लिए फूल लाने गए थे, तभी मोटरसाइकिल पर सवार तीन युवक वहां आए और धारदार हथियार से उनकी हत्‍या कर फरार हो गए.

रहमान ने बताया कि जिस तरह हत्या की गई है, यह किसी स्थानीय आतंकी की करतूत लगती है. बता दें कि हाल के दिनों में बांग्‍लादेश में कई उदारवादी लोगों की हत्‍या हो चुकी है. इन हत्‍याओं की जिम्‍मेदारी इस्लामिक स्टेट ने भी ली है. गौरतलब है कि बांग्लादेश में करीब 1.5 करोड़ हिंदू आबादी है. जून 2016 में नलदंगा मंदिर के पुजारी अनंत गोपाल गंगुल की नुकीले हथि‍यार से वार कर हत्या कर दी गई थी, जबकि फरवरी 2016 में पुजारी जगेश्वर राय को आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें