scorecardresearch
 

यूरोप में जमकर तबाही मचा रहा कोरोना का डेल्टा वैरिएंट, WHO ने दी यह चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को चेतावनी दी कि डेल्टा अब यूरोप के अधिकांश हिस्सों में कोविड -19 का प्रमुख वैरिएंट है.

कोरोना वायरस कोरोना वायरस
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूरोप में जमकर तबाही मचा रहा डेल्टा वैरिएंट
  • अमेरिका में भी इसी के ज्यादा मामले
  • सबसे पहले भारत में मिला था यह वैरिएंट

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सोमवार को चेतावनी दी कि डेल्टा अब यूरोप के अधिकांश हिस्सों में कोविड -19 का प्रमुख वैरिएंट है. यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल (ईसीडीसी) के साथ, डब्ल्यूएचओ ने कहा कि डेल्टा वैरिएंट को और फैलने से रोकने के लिए प्रयासों को मजबूत किया जाना चाहिए.

डब्ल्यूएचओ के यूरोप के रीजनल ऑफिस (डब्ल्यूएचओ/यूरोप) के अनुसार, 28 जून और 11 जुलाई के बीच की अवधि के डेटा को सही से पढ़कर पता चलता है कि डेल्टा 28 यूरोपीय देशों में से कम से कम 19 में कोरोना का प्रमुख वैरिएंट है. इन 19 देशों में जेनेटिक सिक्वेसिंग के लिए भेजे गए नमूनों में पाए गए डेल्टा वैरिएंट का औसत 68.3 प्रतिशत था. 

इसकी तुलना में, पहले का प्रमुख अल्फा वैरिएंट सिर्फ 22.3 प्रतिशत सैंपल्स में पाया गया था. इससे यह पता चलता है कि डेल्टा वैरिएंट अल्फा वैरिएंट को पीछे कर चुका है और यूरोप में अधिक तबाही मचा रहा है. एक्सपर्ट्स पहले ही डेल्टा वैरिएंट के सभी यूरोपीय देशों में तेजी से फैलने के बारे में चेतावनी दे चुके हैं.

वहीं, यहां तक कि अमेरिका में सामने आ रहे कोरोना वायरस के नए मामलों में से 83 फीसदी केस डेल्टा वैरिएंट के हैं. यदि यही रुझान आने वाले समय में भी जारी रहता है तो फिर डेल्टा वैरिएंट दुनिया के सबसे प्रमुख वैरिएंट के रूप में भी उभर सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें