scorecardresearch
 

बांग्लादेश: तूफान ‘Mahasen’ से 14 लोगों की मौत

चक्रवाती तूफान ‘महासेन’ ने बांग्लादेश के दक्षिण में स्थित पातुआखाली तट पर दस्तक देने के बाद भारी तबाही मचाई. कम से कम 14 लोगों की मृत्यु हो गई और हजारों मकानों को नुकसान पहुंचा है. वहां से लाखों की संख्या में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

X

चक्रवाती तूफान ‘महासेन’ ने बांग्लादेश के दक्षिण में स्थित पातुआखाली तट पर दस्तक देने के बाद भारी तबाही मचाई. कम से कम 14 लोगों की मृत्यु हो गई और हजारों मकानों को नुकसान पहुंचा है. वहां से लाखों की संख्या में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.

बांग्लादेश के मौसम विभाग से मिली सूचना के मुताबिक, चक्रवाती तूफान ‘महासेन’ 90 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से पातुआखाली (खापुपारा) के निकट स्थित तट तक पहुंचा, हालांकि बाद में इसकी गति काफी कम हो गई.

आपदा प्रबंधन विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि सभी मौतें दक्षिणपश्चिम तटीय इलाकों में हुई जहां तूफान ने काफी तेज गति से दस्तक दी थी. बाद में यह धीरे-धीरे कमजोर पड़ गया. तटीय इलाकों के अधिकारियों ने पहले बताया कि ज्यादातर मौतें बरिसाल क्षेत्र में हुई. सबसे अधिक मौत की खबर बरगुना जिले से आई है, जहां तूफान का सबसे अधिक प्रभाव पड़ा है.

अधिकारियों ने बताया कि ज्यादातर लोगों को मौत डूबने या तूफान में गिरे पेड़ों की चपेट में आने से हुई है.

मौसम विज्ञान विभाग के उपनिदेशक शमसुद्दीन अहमद ने बताया कि तूफान भारत के त्रिपुरा प्रांत की ओर बढ़ने के साथ ही धीरे-धीरे कमजोर पड़ गया. बांग्लादेश के भोला के प्रशासनिक प्रमुख खादंकर मुस्तफीजुर रहमान ने पहले कहा था कि करीब 5,000 लोग बंगाल की खाड़ी के 25 किलोमीटर के दायरे में स्थित एक द्वीप पर फंसे हुए हैं. उस इलाके में उंची लहरें नहीं उठीं.

बरिसाल के मंडलीय आयुक्त नूरुल अमीन ने सरकारी समाचार एजेंसी बीएसएस से कहा कि स्थिति अब सामान्य हो रही है और लोग अपने घरों की ओर लौटने लगे हैं. बरिसाल क्षेत्र में करीब दो लाख लागों ने आश्रय स्थलों की शरण ले ली थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें