scorecardresearch
 

China-Taiwan Conflict: ताइवान में मंडरा रहे चीन के 21 विमान और 6 शिप, राष्ट्रपति बोलीं- अभी खतरा कम नहीं हुआ

China-Taiwan Conflict: US की हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने हाल ही में ताइवान की यात्रा की थी. उनकी यात्रा के बाद से ही चीन भड़का हुआ है. चीन ने ताइवान को चारों तरफ से न सिर्फ घेर लिया है, बल्कि लाइव फायर ड्रिल भी कर रहा है. मिसाइलें दाग रहा है. अब ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि हमारे क्षेत्र में चीन के 6 PLAN जहाज और 21 PLA विमान मंडरा रहे हैं.

X
चीन लगातार ताइवान को घेर रहा है (फाइल फोटो) चीन लगातार ताइवान को घेर रहा है (फाइल फोटो)

China-Taiwan Conflict: ताइवान और चीन के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमारे क्षेत्र में 21 चीनी सैन्य विमानों और 6 चीनी नौसैनिक जहाज मंडरा रहे हैं. रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट किया कि हमारे क्षेत्र में चीन के  6 PLAN जहाज और 21 PLA विमानों का पता लगाया गया है.  वहीं ROCArmedForces की ओर से स्थिति की बारीकी से निगरानी की जा रही है.

ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने कहा कि चीन का खतरा कम नहीं हुआ है. वहीं रक्षा मंत्रालय ने ताइवान के आसपास के एयर स्पेस में हो रही गतिविधि को लेकर कहा है कि ताइवान के क्षेत्र में 21 सैन्य विमान और 6 शिप की जानकारी मिली है. 

दरअसल, हाल ही में अमेरिका की हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने ताइवान की यात्रा की थी. इसके बाद से ही चीन बौखलाया हुआ है. लिहाजा चीन ने ताइवान को चारों तरफ से घेर लिया है. इतना ही नहीं, चीन ने लगातार फायर ड्रिल करके अपनी बैखलाहट का भी सबूत दिया है.

ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने हाल ही में कहा था कि हमें चीन से खतरा पहले की अपेक्षा बहुत ज्यादा बढ़ गया है. लेकिन फिर भी हम अपनी स्वतंत्रता और लोकतंत्र की रक्षा के लिए दृढ़ रहेंगे. वू ने कहा कि चीन हमेशा से ताइवान को धमकी देता रहा है और पिछले कुछ सालों में यह और बढ़ गया है. उन्होंने कहा कि चाहे यूएस की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान का दौरा करें या नहीं, ताइवान के खिलाफ चीनी सैन्य खतरा हमेशा से रहा है. यह एक ऐसा संकट है जिससे हमें निपटने की सख्त जरूरत है.

विदेश मंत्री जोसेफ वू ने कहा था कि चीन किसी भी हालत में ताइवान को यह निर्देश नहीं दे सकता है कि हम किसका वेलकम करें और किसका नहीं. दरअसल, ताइवान ने पिछले हफ्ते यूएस हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी के नेतृत्व में अमेरिकी कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल की यात्रा का स्वागत किया और कहा कि यह यात्रा एक बार फिर ताइवान के लिए ठोस अमेरिकी प्रतिबद्धता पर जोर देती है.

ये भी देखें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें