scorecardresearch
 

भारत ने बैन किए ऐप्स तो भड़का चीन, कहा- सुरक्षा का बहाना ना बनाए

भारत के लगातार चीनी ऐप बैन करने से चीन परेशान हो गया है. चीन ने भारत के फैसले पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा की आड़ में ऐसे कदम नहीं उठाए जाने चाहिए.

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत ने 43 ऐप पर लगाया बैन
  • चीन ने जताया कड़ा विरोध
  • भारत के कदम को बताया WTO के नियमों के खिलाफ

चीन ने बुधवार को भारत के चीनी ऐप बैन करने के फैसले को लेकर आपत्ति जाहिर की है. भारत ने मंगलवार को सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए चीनी मूल के 43 ऐप बैन कर दिए थे. चीन ने भारत के इस कदम को विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन करार दिया है.

लद्दाख में मई महीने में भारत और चीन की सेना के बीच हुई झड़प के बाद से ये चौथी बार है जब भारत ने चीनी मूल के ऐप पर बैन लगाया है. अब तक, भारत करीब 267 चीनी ऐप पर बैन लगा चुका है.

'राष्ट्रीय सुरक्षा का बहाना ना बनाए भारत'

भारत स्थित चीनी दूतावास की प्रवक्ता जी रोंग ने कहा, चीन से जुड़े मोबाइल ऐप्स को बैन करने के लिए भारत लगातार राष्ट्रीय सुरक्षा का सहारा ले रहा है. इसका हम कड़ा विरोध करते हैं.

जी ने भारत से चीनी ऐप पर लगाए गए प्रतिबंध हटाने की मांग करते हुए कहा है कि ये कदम विश्व व्यापार संगठन के नियमों के खिलाफ है. उन्होंने कहा, हमें उम्मीद है कि भारतीय पक्ष चीन समेत सभी देशों के लिए बिना भेदभाव के बाजार में पहुंच सुनिश्चित करेगा और विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन करने वाले कदमों को वापस लेगा.

जी ने कहा, चीन की सरकार ने लगातार दोहराया है कि चीनी कंपनियां अंतरराष्ट्रीय नियमों का पालन करें और कानून और नैतिकता के दायरे में रहते हुए ऑपरेट करें.

'भारत और चीन एक-दूसरे के लिए खतरा नहीं'

चीनी दूतावास की प्रवक्ता जी ने कहा कि भारत और चीन एक-दूसरे के लिए खतरे के बजाय विकास के अवसरों का प्रतिनिधित्व करते हैं. दोनों पक्षों को पारस्परिक हितों के लिए द्विपक्षीय आर्थिक और व्यापारिक रिश्तों को सही दिशा में आगे बढ़ाना चाहिए. दोनों देशों को बातचीत के जरिए एक-दूसरे के लिए सकारात्मक माहौल बनाना चाहिए.

भारत और चीन के बीच पिछले कई महीनों से तनाव बना हुआ है. दोनों देशों के बीच कई दौर की सैन्य और राजनयिक स्तर की बातचीत भी हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकल सका है. दोनों तरफ की सेनाएं सर्दियों में भी डटी हुई हैं. भारत भी फॉरवर्ड एरिया में अपने सैनिकों को गर्म कपड़े और अन्य सुविधाएं मुहैया कराने में लगा हुआ है.

कब-कब लगे चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध?

चीन से सीमा विवाद बढ़ने के बाद से भारत ने देश के भीतर चीनी निवेश को लेकर कई नियम कड़े कर दिए हैं. भारत ने देश की संप्रुभता और सुरक्षा को खतरा बताते हुए चीनी मूल के कई ऐप पर भी प्रतिबंध लगाए हैं.

भारत ने सबसे पहले 29 जून को 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगाया था, उसके बाद 28 जुलाई को 47 अन्य ऐप पर बैन लगाने की घोषणा की. 2 सितंबर को 118 और 24 नवंबर को 43 ऐप्स पर बैन लगाया गया. मंगलवार को बैन हुए ऐप्स में चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा का अली एक्सप्रेस ऐप भी शामिल है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें