scorecardresearch
 

युद्ध की तैयारी में चीन! राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को तैयार रहने के दिए आदेश

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि कोरोना वायरस से लड़ने को लेकर चीन का प्रदर्शन सैन्‍य रिफॉर्म्‍स की सफलता को दर्शाता है. ऐसे में सशस्‍त्र बलों को महामारी के बावजूद प्रशिक्षण के नए तरीके खोजने की जरूरत है.

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फाइल फोटो) चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (फाइल फोटो)

  • चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सैनिकों को तैयार रहने को कहा
  • वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन के बीच तनाव

वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत के साथ तनाव और कोरोना महामारी को लेकर अमेरिका से गतिरोध के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बड़ा बयान दिया है. शी जिनपिंग ने सशस्‍त्र बलों को निर्देश दिया कि वे सैनिकों की ट्रेनिंग को मजबूत करें और युद्ध के लिए तैयार रहें.

चीन की सरकारी मीडिया ने शी जिनपिंग के हवाले से कहा कि राष्ट्रीय संप्रभुता की पूरी तरह से रक्षा और देश की समग्र सामरिक स्थिरता की रक्षा करने के लिए सैनिकों के प्रशिक्षण को व्यापक रूप से मजबूत करना और युद्ध के लिए तैयार करना महत्वपूर्ण है.

जिनपिंग ने कहा है कि कोरोना वायरस से लड़ने को लेकर चीन का प्रदर्शन सैन्‍य रिफॉर्म्‍स की सफलता को दर्शाता है. ऐसे में सशस्‍त्र बलों को महामारी के बावजूद प्रशिक्षण के नए तरीके खोजने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें-LAC पर चीन की करतूतों पर PMO में बैठक, रक्षा मंत्री और तीनों सेना प्रमुख रहे मौजूद

प्रधानमंत्री कार्यालय में बैठक

वहीं, चीन के साथ जारी तनाव के इस मुद्दे पर दिल्ली में प्रधानमंत्री कार्यालय में बैठक हुई है. चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर क्या हालात हैं, इस पर चर्चा हुई. इस उच्चस्तरीय बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ तीनों सेनाओं के प्रमुख हिस्सा लिए.

बता दें, लद्दाख क्षेत्र में चीन की ओर से जो लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाई जा रही है. उसे देखते हुए अब भारत भी अपनी तैनाती को बढ़ाएगा. लद्दाख में बीते दिनों जो हुआ है, उसके बाद से ही सुरक्षा की दृष्टि से भारत ने अपनी नजर पैनी की है और हर एक कदम पर कड़ी निगाहें बनी हुई हैं.

कुछ ही दिन पहले भारत और चीन के सैनिकों के बीच पूर्वी लद्दाख और सिक्किम के नाकू ला सेक्टर में भी झड़प हो चुकी है. इसी के बाद दोनों देशों में तनाव की स्थिति है. सिर्फ लद्दाख ही नहीं बल्कि बीते एक महीने में चीन और भारत के बीच तीन क्षेत्रों में तनावपूर्ण स्थिति बन रही है.

ये भी पढ़ें-कोरोना वायरस पर तनाव के बीच अमेरिका ने दिया चीन को बड़ा झटका

अमेरिका से भी जारी है तनाव

कोरोना वायरस पर घिर चुका चीन अमेरिका के निशाने पर भी है. अमेरिका कोरोना महामारी फैलाने के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराता आया है. अमेरिका का कहना है कि चीन ने कोरोना वायरस को लेकर जानकारी छिपाई और इसकी वजह से दुनिया में कोरोना महामारी फैली. अमेरिका की ओर से बार-बार ये भी कहा गया है कि हो सकता है वुहान स्थित लैब से कोरोना वायरस फैला. इस मसले पर जांच की बात भी कही गई थी. हालांकि, चीन ऐसे आरोपों को खारिज करता आया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें