scorecardresearch
 

बैंकॉक में मंदिर के बाहर जोरदार धमाका, 27 लोगों की मौत

थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक सोमवार शाम को बड़े धमाके से हिल गई. सेंट्रल बैंकॉक में हुए इस धमाके में 27 लोगों के मरने और 80 के घायल होने की खबर है. पुलिस के मुताबिक, बम बाइक पर रखा गया था. एक प्रवक्ता के मुताबिक, घटना स्थल के पास से दो बम बरामद किए गए थे, जिनमें से एक को निष्क्रिय कर दिया गया है.

सेंट्रल बैंकॉक में हुआ ये धमाका सेंट्रल बैंकॉक में हुआ ये धमाका

थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक सोमवार शाम को बड़े धमाके से हिल गई. सेंट्रल बैंकॉक में हुए इस धमाके में 27 लोगों के मरने और 80 के घायल होने की खबर है. पुलिस के मुताबिक, बम बाइक पर रखा गया था. एक प्रवक्ता के मुताबिक, घटना स्थल के पास से दो बम बरामद किए गए थे, जिनमें से एक को निष्क्रिय कर दिया गया है. सरकार का मानना है कि विस्फोटों का मकसद देश की अर्थव्यवस्था और पर्यटन को नुकसान पहुंचाना है.

पुलिस और रेस्क्यू वर्कर घटना स्थल पर पहुंचकर घायलों को अस्पताल पहुंचाने में जुट गए हैं. अभी धमाके की वजह का पता नहीं चल पाया है. शुरुआती रिपोर्ट्स के मुताबिक यह धमाका मशहूर इरावन मंदिर के बाहर हुआ. PM मोदी ने ट्वीट करके बैंकॉक धमाके पर अफसोस जताया है और मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति सांत्वना व्यक्त की.
स्थानीय पुलिस के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल प्रायुत थावोर्नसिरि ने कहा, 'मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि यह बम था, लेकिन यह नहीं बता सकते कि किस तरह का बम था, हम जांच कर रहे हैं. बैंकॉक में जब मॉल के पास धमाका हुआ तो मॉल के अंदर बॉलीवुड अभ‍िनेत्री जेनेलिया डिसूजा मौजूद थीं. उन्होंने खुद वहां से ट्वीट करके इसकी जानकारी दी. भारतीय दूतावास ने इस धमाके से जुड़ी जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं.
यह मंदिर बैंकॉक के व्यावसायिक गढ़ के मुख्य मार्ग पर स्थित है और इसके आसपास तीन बड़े शॉपिंग मॉल और बड़े औद्योगिक समूहों के होटल हैं. यह थाईलैंड के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है जहां पूर्वी एशिया और स्थानीय बौद्ध पर्यटक बड़ी संख्या में आते हैं.

हालांकि विस्फोटों में अभी तक किसी भारतीय के हताहत होने की सूचना नहीं है. विस्फोटों के बाद वहां चारों ओर लोगों के शरीर के अंग बिखरे पड़े थे, अफरातफरी मची थी. पुलिस ने बताया कि विस्फोट मंदिर के भीतर स्थित एक पोल पर लगाए गए विस्फोटक में शाम करीब छह बजकर पचपन मिनट पर हुआ. अभी तक किसी समूह ने विस्फोटों की जिम्मेदारी नहीं ली है.

रक्षा मंत्री प्रावित वोंगसुवोंग ने कहा, ‘यह टीएनटी बम था, जिन लोगों ने भी यह किया है, उन्होंने विदेशियों, पर्यटन और अर्थव्यवस्था को निशाना बनाया है.’ पुलिस ने बताया कि बम पांच किलोग्राम टीएनटी से बना हुआ था. विस्फोट का सबसे ज्यादा प्रभाव त्रिज्या में हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें