scorecardresearch
 

पब में एक घूंट ड्रिंक पीते ही लड़के की हुई मौत, सन्न रह गए दोस्त

डॉक्‍टर बनने का सपना देख रहे लड़के को कॉकटेल का एक घूंट पीना भारी पड़ गया. लड़के को डेयरी प्रोडक्‍ट से एलर्जी थी. पब में उसने दोस्‍तों के साथ जो कॉकटेल पिया, वह उसकी जिंदगी का 'आखिरी घूंट' बन गया. लड़के का ब्रिटेन के नामी कॉलेज में एडमिशन हो गया था. लड़का स्‍पेन में छुट्टियां मनाने गया हुआ था.

X
ब्रिटेन के रहने वाले शिव मिस्‍त्री की दुखद मौत स्‍पेन में हुई (Gofundme)
ब्रिटेन के रहने वाले शिव मिस्‍त्री की दुखद मौत स्‍पेन में हुई (Gofundme)

18 साल के लड़के ने पब में कॉकटेल का एक घूंट लिया और यही उसके लिए जानलेवा बन गया, लड़के की मौत हो गई. लड़के की मौत के बाद उसके दोस्‍त सन्‍न रह गए.

ब्रिटेन का रहने वाला लड़का स्‍पेन में छुट्टियां मनाने के लिए दोस्तों के साथ गया था. पब में कॉकटेल पीते ही लड़के को पसीना आया, तेजी से सांस फूलने लगी, इसके बाद बाथरूम में जाकर उसने उल्‍टी की. अस्‍पताल में डॉक्‍टरों ने लड़के को ब्रेनडेड घोषित कर दिया. 

मृतक लड़के की पहचान शिव मिस्‍त्री के तौर पर हुई है. शिव का कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के क्‍लेयर कॉलेज में एडमिशन हो गया था, यहां वह मेडिसीन की पढ़ाई शुरू करने वाला था. लेकिन, स्‍पेन में कॉकटेल का घूंट पीने से उसकी मौत हो गई. यह घटना जुलाई में हुई थी. इससे जुड़ी जानकारी अब सामने आई है.

दरअसल, शिव ने स्‍पेन में Piña colada (एक प्रकार का कॉकटेल) पिया. उनके अंकल कल्‍पेश मिस्‍त्री ने बताया कि शिव को बचपन से ही डेयरी उत्‍पादों से एलर्जी रही है. जो कॉकटेल शिव ने पिया उसमें नारियल की क्रीम की जगह गाय का दूध था.

कॉकटेल पीते ही शिव को 'Anaphylactic Shock' (जानलेवा एलर्जिक रिएक्‍शन) हुआ. लेकिन उनके दोस्‍त, डॉक्टर और पुलिस इस बात को नहीं समझ सके. 

शिव को उनके दोस्‍त स्‍पेन के Fuengirola में मौजूद पब में ले गए थे. यहीं पर ड्रिंक पीते ही उन्‍हें पसीना आने लगा. उन्‍होंने तेजी से सांस लेना शुरू कर दिया, फिर बाथरूम में जाकर उल्‍टी की. 

CPR देने की कोशिश की गई थी
शिव की हालत जब खराब हुई तो उन्‍होंने अपने दोस्‍तों से कहा कि वह इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें. शिव ने EpiPen नाम के इंजेक्‍शन ओर इनहेलर की भी मांग की. शिव के दोस्‍तों ने 20 मिनट तक CPR भी दिया. इसी दौरान शिव के माता-पिता को फोन कर जानकारी दी गई. शिव के माता-पिता ने बातचीत के दौरान दोस्‍तों से EpiPen देने की गुहार लगाई. 

हालत बिगड़ने पर शिव को मारबेला (स्‍पेन) में मौजूद कोस्‍टा डेल सोल हॉस्पिटल (Costa Del Sol Hospital) में भर्ती करवाया गया. लेकिन यहां पहुंचते ही डॉक्‍टरों ने शिव को ब्रेन डेड घोषित कर दिया. 

इस मामले में शिव के माता-पिता ने कहा कि शिव के दोस्‍तों ने उसे बचाने की पूरी कोशिश की थी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें