scorecardresearch
 

पाकिस्तान में एक और हिंदू लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कर निकाह कराने का आरोप

वीडियो में अरोक कुमारी, अली रज़ा नाम के मुस्लिम लड़के के साथ बैठी नजर आ रही है. वह बता रही है कि उसने अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवक से शादी की है.

पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन

  • लड़की ने रजामंदी से धर्म परिवर्तन की कही है बात
  • कोर्ट से मांगी अपनी और अपने पति की सुरक्षा

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में जबरन धर्म परिवर्तन का सिलसिसा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ते उत्पीड़न के मामले और उनकी सुरक्षा, इमरान सरकार के लिए मुसीबत बन गई है. ताजा मामला सिंध प्रांत के जैकोबाबाद का है, जहां अरोक कुमारी नाम की एक लड़की बुधवार से गायब है.

हालांकि बाद में वायरल वीडियो के जरिए खुलासा हुआ कि उस लड़की का धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवक अली रज़ा नाम के साथ शादी हो गई है.

वीडियो में अरोक कुमारी, अली रज़ा नाम के मुस्लिम लड़के के साथ बैठी नजर आ रही है. वह बता रही है कि उसने अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवक से शादी की है.

अरोक कुमारी (धर्म परिवर्तन के बाद अलीज़ा) वीडियो में कह रही हैं, 'मैंने अपनी मर्जी से धर्म बदल कर इस्लाम कुबूल किया है. मेरा नया नाम अलिज़ा है. मैंने दरगाह अमरोत शरीफ में इस्लाम अपना कर अली रज़ा से निकाह किया है.'

उसने अपनी उम्र 18 साल बताते हुए अपनी और अपने पति की सुरक्षा की मांग की है. लड़की ने सिंध क्षेत्र के सुक्कर जिले की एक अदालत में एक केस दाखिल किया है जिसमें उसने अपने हिंदू परिवार और समुदाय से अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा देने की मांग की है.

उसने कहा, 'मैं 18 साल की हूं. मैं अपने माता-पिता और हिंदू समुदाय के लोगों से सुरक्षा चाहती हूं. मैंने और मेरे पति ने अपनी सुरक्षा के लिए सुक्कर की एक अदालत में केस दर्ज कराया है.'  

वीडियो रिलीज होने से पहले हिंदू समुदाय के लोग इसे अपहरण और जबरन धर्म परिवर्तन का मामला बताते हुए गंभीर सवाल खड़े कर रहे थे. उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान और सेना प्रमुख से मामले को संज्ञान में लेते हुए उनके परिवार और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की धार्मिक सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है.

हिंदू समुदाय के लोगों ने बताया है कि ननकी कुमारी उर्फ महक कुमारी उर्फ अरोक कुमारी उर्फ अलीज़ा 15 साल की बच्ची है जो नौंवी क्लास में पढ़ती है.  

हिंदू समुदाय के एक प्रतिनिधी ने कहा कि आज उसको गायब हुए चार दिन हो गए हैं. जैकोबाबाद और हिंदू समुदाय के लोग बच्ची के अब तक वापस नहीं आने से चिंतित हैं. हर दूसरे दिन यही सुनने में आता है कि हमारी लड़कियों का अपहरण कर लिया गया और जबरन उसका धर्म परिवर्तन करा दिया गया है. वो इस तरीके से हमें परेशान कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें