scorecardresearch
 

चीन के साथ क्या रहेगी बाइडेन प्रशासन की नीति? सामने आया पहला बयान

जो बाइडेन प्रशासन अपनी विदेश नीति को किस तरह आगे बढ़ाता है, इस पर हर किसी की नजर है. इस बीच मंगलवार को व्हाइट हाउस की ओर से कहा गया है कि चीन ने पिछले कुछ वक्त में जिस तरह से कदम लिए हैं, उसपर अमेरिका नई अप्रोच के साथ आगे बढ़ेगा.

व्हाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी ने जारी किया बयान व्हाइट हाउस प्रेस सेक्रेटरी ने जारी किया बयान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चीन को लेकर व्हाइट हाउस का बयान
  • नई अप्रोच के साथ आगे बढ़ेगा अमेरिका

अमेरिका में जो बाइडेन के सत्ता संभालने के बाद हर किसी की नजर अब नई सरकार की विदेश नीति पर है. चीन को लेकर बाइडेन प्रशासन की ओऱ से पहला बड़ा बयान आया है. व्हाइट हाउस की ओर से कहा गया है कि चीन जिस तरह से कई मोर्चों पर आर्थिक कदम उठा रहा है, उसपर अमेरिका की नजर है.

व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी जेन साकी द्वारा कहा गया कि अमेरिका का मकसद उसके साथियों के साथ आगे बढ़कर काम करने का है. पिछले कुछ वर्षों में चीन काफी अधिनायकवादी हुआ है, जबकि विदेशी मामलों को लेकर भी मुखर हुआ है. 

व्हाइट हाउस ने कहा कि चीन की ओर से सुरक्षा, मूल्यों को चुनौती दी जा रही है, ऐसे में अमेरिका को नई अप्रोच के साथ आगे आना होगा. अमेरिका इस और धैर्यपूर्ण तरीके से कदम बढ़ाएगा.

देखें: आजतक LIVE TV


आपको बता दें कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल में अमेरिका-चीन में तनातनी काफी हदतक बढ़ गई थी. चीन ने ट्रंप प्रशासन के कई अधिकारियों, मंत्रियों पर बैन लगा दिया था. ऐसे में अब जब नई सरकार आई है, तो हर किसी की नजर चीन को लेकर उसके रुख पर है.

डोनाल्ड ट्रंप ने चुनावी प्रचार के दौरान आरोप लगाया था कि अगर जो बाइडेन सत्ता में आते हैं, तो वो चीन के प्रति नरमी बरतेंगे. हालांकि, अभी जो बाइडेन को अमेरिका की कमान संभाले एक हफ्ता ही हुआ है, ऐसे में विदेश नीति पर पूरी तरह से कोई अनुमान लगाना गलत ही होगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें