scorecardresearch
 

‘ट्रंप कहेंगे तो नहीं लूंगी वैक्सीन’, डिबेट में भिड़े कमला हैरिस और पेंस

डिबेट में वैक्सीन के मसले पर विवाद हुआ, जब होस्ट ने कमला हैरिस से पूछा कि क्या वो वैक्सीन लगवाएंगी तो उन्होंने कहा कि अगर डॉक्टर पास करेंगे तो जरूर लगवाएंगी लेकिन ट्रंप कहेंगे तो बिल्कुल भी नहीं. 

ट्रंप प्रशासन पर बरसीं कमला हैरिस ट्रंप प्रशासन पर बरसीं कमला हैरिस
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमेरिकी चुनाव की इकलौती वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट
  • कमला हैरिस और माइक पेंस आए आमने-सामने

अमेरिकी चुनाव की इकलौती वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट गुरुवार को हुई. मौजूदा उपराष्ट्रपति माइक पेंस और डेमोक्रेट्स की ओर से उम्मीदवार कमला हैरिस के बीच करीब 90 मिनट तक बहस चली, जिसमें दोनों नेता कई मसलों पर आमने-सामने आए. कमला हैरिस की ओर से ट्रंप प्रशासन को कोरोना संकट का सामना करने में पूरी तरह से फेल बताया गया.

कमला हैरिस की ओर से आरोप लगाया गया कि ट्रंप प्रशासन को जनवरी में ही कोरोना संकट के बारे में पता था, लेकिन उन्होंने देश को नहीं बताया. जिसका खामियाजा दो लाख से अधिक लोगों को अपनी जान गंवा कर देना पड़ा. जवाब में माइक पेंस की ओर से कहा गया कि ट्रंप ने सबसे पहले चीन की फ्लाइट पर रोक लगाई और उसके बाद देश में कोरोना से लड़ने की तैयारियों पर जोर दिया.

इसके अलावा डिबेट में वैक्सीन के मसले पर विवाद हुआ, जब होस्ट ने कमला हैरिस से पूछा कि क्या वो वैक्सीन लगवाएंगी तो उन्होंने कहा कि अगर डॉक्टर पास करेंगे तो जरूर लगवाएंगी लेकिन ट्रंप कहेंगे तो बिल्कुल भी नहीं. 

माइक पेंस की ओर से डेमोक्रेट्स उम्मीदवार को बराक ओबामा प्रशासन की कमियां, चीन के साथ संबंध के मसले पर घेरा. कमला हैरिस की ओर से आरोप लगाया गया कि अमेरिकी राष्ट्रपति की वजह से अमेरिका चीन के साथ ट्रेड वॉर हार गया. उसके बाद चीन के वायरस ने अमेरिका को बर्बाद कर दिया. इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप के टैक्स के मसले पर भी बहस हुई, जिसमें कमला हैरिस ने कहा कि वो एक ऐसा राष्ट्रपति चाहेंगी जो टैक्स चोरी ना करे और देश को सच बताए.

आपको बता दें कि अमेरिकी चुनाव से पहले तीन प्रेसिडेंशियल डिबेट होनी हैं जबकि एक वाइस प्रेसिडेंशियल डिबेट. अभी तक एक प्रेसिडेंशियल डिबेट हो गई है और अब दूसरी डिबेट 15 अक्टूबर को होगी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें