scorecardresearch
 

रैली में हाफिज के साथ फिलिस्तीनी राजदूत ने साझा किया मंच, भारत ने जताया ऐतराज

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के साथ फिलिस्तीन के राजदूत वलीद अबु अली ने मंच साझा किया है. पाकिस्तानी पत्रकार उमर कुरैशी ने खूंखार आतंकी हाफिज सईद और पाकिस्तान में फिलिस्तीन के राजदूत के मंच साझा करने की तस्वीर को ट्वीटर पर शेयर की है.

फिलिस्तीनी राजदूत वलीद अबु अली और आतंकी हाफिज सईद (स्रोत-@omar_quraishi) फिलिस्तीनी राजदूत वलीद अबु अली और आतंकी हाफिज सईद (स्रोत-@omar_quraishi)

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के साथ फिलिस्तीन के राजदूत वलीद अबु अली ने मंच साझा किया है. पाकिस्तानी पत्रकार उमर कुरैशी ने खूंखार आतंकी हाफिज सईद और पाकिस्तान में फिलिस्तीन के राजदूत के मंच साझा करने की तस्वीर को ट्वीटर पर शेयर की है.

ये तस्वीर पाकिस्तान के रावलपिंडी के लियाकत बाग में आयोजित विशाल रैली की हैं, जिसमें हाफिज सईद के साथ फिलिस्तीन के राजदूत वलीद अबु अली भी शामिल हुए. इस रैली का आयोजन दिफाह-ए-पाकिस्तान काउंसिल ने किया. इस रैली को वलीद अबु अली ने भी संबोधित किया. वैश्विक आतंकी हाफिज सईद पाकिस्तान की राजनीति में आने को बेताब है. इसमें उसको पाकिस्तानी सेना का भी समर्थन मिल रहा है.

वहीं भारत ने इस मामले पर ऐतराज जता दिया है. भारत ने कहा है कि वह हाफिज सईद की रैली में इस्लामाबाद में तैनात फलस्तीनी राजदूत की मौजूदगी का मुद्दा फलस्तीन के सामने सख्ती से उठाएगा. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि हमने इस बाबत खबरें देखी हैं. हम नई दिल्ली में फलस्तीनी राजदूत और फलस्तीनी अधिकारियों के सामने इस मुद्दे को सख्ती से उठाएंगे.

हाल ही में नजरबंदी से रिहा होने के बाद आतंकी हाफिज सईद आगामी चुनाव में उतरने का ऐलान भी चुका है. हालांकि उसके सिर पर अमेरिका ने एक करोड़ रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा है. वहीं, भारत के सबसे बड़े दुश्मन हाफिज सईद के साथ फिलिस्तीनी राजदूत वलीद अबु अली की तस्वीर सामने आने के बाद बवाल मच गया है. इसको लेकर सोशल मीडिया पर लंबी बहस छिड़ गई है.

 Ambassador of Palestine to Pakistan Waleed Abu Ali attends a large rally organized by the Difah-e-Pakistan Council in Liaquat Bagh in Rawalpindi - seen with JUD chief Hafiz Saeed pic.twitter.com/d8UXLFK8Mm

इस तस्वीर को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, विदेश मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करके लोग ताने मार रहे हैं. ट्विटर पर लोगों से संवाद करने वाली सुषमा स्वराज से लोग सवाल पूछ रहे हैं कि हाल ही में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में भारत ने येरूशलम मसले पर इजरायल के खिलाफ फिलिस्तीन का समर्थन किया था, जिसका यह सिला मिला. अब आपकी इस पर क्या प्रतिक्रिया है?Respected @SushmaSwaraj Ji Respected @rajnathsingh Ji Respected @AmitShah Ji & Most Respected @narendramodi Ji.Just get to know that today Philistine's High comisionr was with globl terror Hafiz said .Made me vry angry that why india voted against #Israel on #Jerusalem.As a citizen of India I can say every indian Love #isreal no matter what @PMOIndia @MEAIndia@SushmaSwaraj philistine pakistan ambassador participate stage with Hafiz Sayeed. What is your reaction https://t.co/tjaKQSYN9J Israel ...

ट्विटर यूजर विदेश मंत्री को ताने दे रहे हैं कि और फिलिस्तीन का समर्थन कर लीजिए. इसके साथ ही यह भी सवाल उठाए जा रहे हैं कि आखिर फिलिस्तीनी राजदूत वलीद अबु अली का खूंखार आतंकी हाफिज सईद से क्या संबंध है? लोगों का यह भी कहना है कि इजरायल जैसा भी है....भारत का असली दोस्त है. ऐसे में भारत को इजरायल के खिलाफ नहीं जाना चाहिए.

फिलिस्तीन के समर्थन पर सुब्रमण्यम स्वामी ने घेरा था मोदी सरकार को

येरूशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र महासभा में वोट करने पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार को घेरा था. स्वामी ने कहा था कि यह फैसला भारत के हित में नहीं है. इससे भारत की क्रेडिबिलिटी पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है.

उन्होंने कहा था कि इससे अमेरिका और इजरायल हम पर भरोसा नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि हमने हमेशा फिलिस्तीन का समर्थन किया है, जो कश्मीर के मामले में हमेशा हमारा विरोधी रहा है. इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन और अन्य फोरम में फिलिस्तीन ने भारत का विरोध किया है. स्वामी ने कहा कि ये कांग्रेस की पुरानी नीति है. अमेरिका और इजरायल के पक्ष में वोट न करके भारत ने बड़ी गलती की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें