scorecardresearch
 

न्यूजर्सी में चक्रवाती तूफान 'सैंडी' से तबाही, कम से कम 10 की मौत

चक्रवाती तूफान सैंडी की वजह से अमेरिका के दक्षिणी न्यूजर्सी और पूर्वी तटीय क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश और काफी तेज हवाओं ने कहर बरपा दिया है.

सैंडी तूफान सैंडी तूफान

चक्रवाती तूफान सैंडी की वजह से अमेरिका के दक्षिणी न्यूजर्सी और पूर्वी तटीय क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश और काफी तेज हवाओं ने कहर बरपा दिया है.

मूसलाधार बारिश से बड़े भूभाग में बाढ़ आने के कारण बिजली व्यवस्था ठप हो गयी और करीब 30 लाख लोग बिना बिजली के रह रहे हैं. मैनहट्टन के भी कुछ इलाकों में बिजली गुल हो गयी है.

तूफान की आशंका में न्यूयॉर्क स्‍टॉक एक्सचेंज बंद

न्यूयार्क सिटी के क्वींस में पेड़ गिरने के कारण 30 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गयी. मैनहट्टन में भी तीन भवनों के जमींदोज होने की जानकारी मिली है.

पिछले कुछ वर्षों में पूर्वी तट सबसे भीषण तूफान की चपेट में आया है. शुरुआती घंटों में इस तूफान ने तटीय क्षेत्र के शहरों को अपनी जद में ले लिया. न्यूयार्क और न्यूजर्सी में रिकॉर्ड बारिश हुयी और प्रमुख परिवहन सेवाओं को बंद करना पड़ा.

क्षेत्र में न्यूयार्क सिटी के जॉन एफ केनेडी एयरपोर्ट और अन्य एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया. तूफान प्रभावित इलाकों में 13,000 से ज्यादा उड़ानों को रद्द किया गया है.

तूफान ने रोका ओबामा, रोमनी का चुनावी अभियान

अमेरिका के 12 से ज्यादा राज्यों में आपात स्थिति की घोषणा कर दी गयी है. नॉर्थ कैरोलीना और न्यू हैंपशायर से लेकर समूचे पूर्वी तट पर करीब पांच करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपना निर्धारित चुनाव अभियान रद्द कर दिया और हालात पर नजर रखने के लिए व्हाइट हाउस लौट गए. राष्ट्रपति चुनाव में ओबामा के प्रतिद्वंद्वी मिट रोमनी ने भी विभिन्न क्षेत्रों में अपने चुनाव अभियान को रद्द कर दिया है.

वाशिंगटन डीसी, फिलाडेल्फिया और न्यूयार्क में मास ट्रांजिट सिस्टम को बंद कर दिया है जिससे रोजाना 1.10 करोड़ लोग अपने गंतव्य की ओर आते जाते हैं. इन राज्यों में स्कूल बंद है जिससे 47 लाख बच्चे प्रभावित हुए हैं.

संघीय आपदा प्रबंधन एजेंसी ने जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए पानी, भोजन, कंबल आदि की व्यवस्था की है. पेंटागन ने कहा है कि उसने बचाव और तलाशी अभियान के लिए 140 से ज्यादा हेलिकॉप्टर को तैयार रखा है वहीं नेशनल गार्ड फोर्स के जवान अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद हैं.

नुकसान का अंदाजा लगाने वाली एक कंपनी ईक्यूईसीएटी के मुताबिक तूफान से 10-20 अरब डॉलर का आर्थिक नुकसान हो सकता है. पांच से 10 अरब डॉलर का नुकसान होना तो तय है.

पिछले साल जापान की फुकुशिमा त्रासदी को देखते हुए अमेरिकी परमाणु नियामक आयोग ने सैंडी से प्रभावित इलाकों के परमाणु संयंत्रों में निरीक्षकों को तैनात किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें