scorecardresearch
 

बाचा खान आतंकी हमला: पाकिस्तान में 4 लोग गिरफ्तार

इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस के डायरेक्टर जनरल लेफ्टिनेंट जनरल असीम बाजवा ने बताया कि गिरफ्तार किए गए 4 लोगों ने आतंकियों को हथियार खरीदने में मदद की थी.

बाचा खान यूनिवर्सिटी बाचा खान यूनिवर्सिटी

पाकिस्तान के बाचा खान यूनिवर्सिटी पर हुए आतंकी हमले को लेकर पाकिस्तान में शनिवार को 4 लोग गिरफ्तार किए गए. इस आतंकी हमले में 25 लोगों की जान गई थी.

इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस के डायरेक्टर जनरल लेफ्टिनेंट जनरल असीम बाजवा ने इसकी पुष्टि की. बाजवा ने बताया कि उन्होंने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन चारों ने आतंकियों की मदद की थी और उन्हें बाचा खान यूनिवर्सिटी पर हमला करने से पहले मरदान जिले तक पहुंचाया था. बाजवा के मुताबिक यूनिवर्सिटी पर हमला करने वाले आतंकी अफगानिस्तान के रास्ते पाकिस्तान पहुंचे थे.

अफगानिस्तान से नियंत्रित किया गया हमला
बाजवा ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों ने आतंकियों को हथियार खरीदने में मदद की थी. बाजवा ने यह भी कहा कि इस हमले की योजना अफगानिस्तान में ही बनाई गई थी और इसे तालिबान का कमांडर ओमर मंसूर फोन पर अफगानिस्तान से ही कंट्रोल कर रहा था. उन्होंने बताया कि हमले वाले दिन अफगानिस्तान से हमलावरों को 10 कॉल किए गए थे. असीम बाजवा के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में से एक ने बाचा खान यूनिवर्सिटी में कुछ दिन काम किया था और उसके बाद आतंकियों को यूनवर्सिटी का नक्शा उपलब्ध करवाया था.

बुधवार को हुआ था हमला
बीते बुधवार को पाकिस्तान के खैबर पख्तुन्वा प्रांत में बाचा खान यूनिवर्सिटी पर 4 हथियारबंद आतंकियों ने हमला कर दिया था. हमले में 50 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. यह यूनवर्सिटी प्रतिष्ठित खान अब्दूल गफ्फार खान के सम्मान में बनाई गई थी.

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने ली थी जिम्मेदारी
इस हमले की जिम्मेदारी तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने ली थी. इससे पहले भी पाकिस्तान में हुए कई आतंकी हमलों में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का नाम सामने आ चुका है.

आतंकियों ने की थी अंधाधुंध फायरिंग
पेशावर से 40 किलोमीटर दूर नॉर्थ में चारसद्दा जिले के बाचा खान विश्वविद्यालय में हुआ. जहां बुधवार की सुबह 9 बजे के आसपास आतंकियों ने हमला करके सनसनी फैला दी. उन्होंने परिसर में आते ही अंधाधुंध गोलियां चलाईं. इसके साथ ही यूनिवर्सिटी परिसर में 10 धमाके भी सुने गए. हमले के वक्त विश्वविद्यालय परिसर में लगभग 3600 छात्र मौजूद थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें