scorecardresearch
 
विश्व

इजरायल से मुस्लिम देशों के रिश्ते पर भड़के ईरानी सुप्रीम लीडर, कहा- ये पाप है

Iran israel conflict
  • 1/8

ईरान के सुप्रीम लीडर अली खामेनेई ने इजरायल के साथ अरब देशों के संबंधों पर आपत्ति जताई है. उन्होंने बीते रविवार को कहा कि पिछले साल इजरायल के साथ जिन अरब देशों ने संबंध सामान्य कर लिए हैं, उन्होंने 'पाप' किया है और इन देशों को अपने फैसलों को बदल लेना चाहिए. 

Iran israel conflict
  • 2/8

अली खामेनेई ने इजरायल का जिक्र करते हुए कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ सरकारों ने गलतियां की हैं, बड़ी गलतियां की हैं और इजरायल के दमनकारी प्रशासन के साथ अपने संबंधों को सामान्य करने का पाप किया है. ये इस्लामिक एकता के खिलाफ किया गया काम है. उन्हें इस रास्ते से वापस लौटना चाहिए और अपनी इस बड़ी गलती की भरपाई करनी चाहिए.

Iran israel conflict
  • 3/8

 उन्होंने आगे कहा कि अगर मुस्लिम एकता को हासिल कर लिया जाता है तो फिलीस्तीन विवाद को निश्चित रूप से काफी अच्छे तरीके से हल कर लिया जाएगा.  बता दें कि अली खामेनेई पैगंबर मुहम्मद के जन्म के सम्मान में एक सार्वजनिक अवकाश के दौरान भाषण दे रहे थे.
 

Iran israel conflict
  • 4/8

बता दें कि साल 2020 में संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन, सूडान और मोरक्को ने इजरायल के साथ संबंधों को सामान्य करने पर सहमति जताई थी. दरअसल पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अरब देशों-इजरायल संबंधों को विदेश नीति में प्राथमिकता दी थी.

Iran israel conflict
  • 5/8

गौरतलब है कि दशकों से चले आ रहे इजरायल-फिलीस्तीन विवाद को लेकर ईरान मुखर रहा है और 1979 में आई इस्लामिक क्रांति के बाद के चार दशकों में ईरान ने फिलीस्तीन को हमेशा सपोर्ट किया है. इस साल मई के महीने में अली खमेनेई ने इजरायल को एक देश के रूप में मान्यता देने से इनकार किया था और इजरायल को एक टेररिस्ट बेस बताया था. 

Iran israel conflict
  • 6/8

साल 2020 से पहले तक सिर्फ मिस्त्र और जॉर्डन ही ऐसे देश थे जिन्होंने इजरायल के साथ अपने संबंध सामान्य किए थे. खामेनेई के भाषण के तुरंत बाद ईरान के टॉप सुरक्षा अधिकारी अली शामखानी ने भी बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि अगर इजरायल तेहरान के न्यूक्लियर प्रोग्राम पर हमला करता है तो उन्होंने भी वादा करते हुए कहा कि वे इजरायल का अरबों डॉलर्स का नुकसान कर डालेंगे.

Iran israel conflict
  • 7/8

ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव अली शामखानी की ये प्रतिक्रिया इजरायल की कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के बाद सामने आई है. इन रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर संभावित हमले के लिए इजरायली सेना को तैयार करने के लिए 5 बिलियन शेकेल यानि 1.5 बिलियन डॉलर्स के बजट की मंजूरी दी गई है.
 

Iran israel conflict
  • 8/8

ईरान-इजरायल के बीच तनातनी जगजाहिर है. ईरान ने न्यूक्लियर प्रोग्राम पर हमले को लेकर इजरायल की लगातार आलोचना की है. (सभी फोटो क्रेडिट: Getty images)