scorecardresearch
 

UP: शादी में आधी रस्में होने के बाद दुल्हन बोली- लड़का पसंद नहीं, और फिर...

कुलपहाड़ कोतवाली के मुढ़ारी गांव में सात फेरे लेने से पहले एक दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया. आधे से अधिक वैवाहिक रस्में पूरी होने के बाद अचानक दुल्हन के शादी से मना करने पर वर और वधु पक्ष के लोग सन्न रह गए.

X
आधे से अधिक पूरी हो गईं वैवाहिक रस्में, दुल्हन ने फैरे से पहले कहा- नहीं करनी शादी (प्रतीकात्मक फोटो) आधे से अधिक पूरी हो गईं वैवाहिक रस्में, दुल्हन ने फैरे से पहले कहा- नहीं करनी शादी (प्रतीकात्मक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूरी रात वर और वधु पक्ष के लोगों के बीच पंचायत चली
  • काफी समझाने के बाद भी दुल्हन नहीं हुई शादी के लिए तैयार

यूपी के महोबा जिले में सात फेरों से पहले दुल्हन को दूल्हा पसंद नहीं आया तो दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया. इस बात से पूरे परिवार में हड़कंप मच गया. दरअसल, कुलपहाड़ कोतवाली के मुढ़ारी गांव में सात फेरे लेने से पहले एक दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया. आधे से अधिक वैवाहिक रस्में पूरी होने के बाद अचानक दुल्हन के शादी से मना करने पर वर और वधु पक्ष के लोग सन्न रह गए.

पूरी रात दोनों पक्षों और गांव के वरिष्ठ लोगों के बीच पंचायत चली लेकिन दुल्हन शादी को तैयार नहीं हुई. पंचायत के बीच दुल्हन ने कहा कि उसे दूल्हा पसंद नहीं है जिसके बाद सुबह बारात बैरंग लौट गई.

बताया जा रहा है कि मुढ़ारी गांव के रहने वाले चंदन पासवान की बेटी सुमन की 24 जून को शादी थी. झांसी के रहने वाले अमित धूमधाम के साथ बारात लेकर दुल्हन के दरवाजे पर पहुंचे. जहां बार‌ातियों का स्वागत सत्कार किया गया. 

धूमधाम से पूरे गांव में बारात घूमी और टीका व जयमाला की रस्में हंसी-खुशी पूरी हुईं. जैसे ही वर पक्ष ने जेवर चढ़ाया और फेरों के कार्यक्रम की तैयारी शुरू की गई, तभी दुल्हन ने दूल्हा पसंद न होने की बात कहते हुए शादी से इनकार कर दिया. दुल्हन की यह बात सुनकर बाराती और वधु पक्ष के लोग हैरान रह गए.

पूरी रात वर और वधु पक्ष के लोगों के बीच पंचायत चली जिसमें पूर्व प्रधान उमाशंकर मिश्र भी शामिल हुए. दोनों पक्षों को समझाया गया कि ऐसी घटना से गांव की बदनामी होती है. दोनों पक्ष सामंजस्य स्थापित करके शादी की शेष रस्में अदा कराएं.

पंचायत के दौरान दुल्हन को बुलाया गया लेकिन उसने दूल्हा पसंद न होने पर किसी भी कीमत पर शादी न करने की बात कही. इसके बाद बारात बिना दुल्हन के ही वापस लौट गई. लोगों में चर्चा रही कि यदि लड़की को दूल्हा पसंद नहीं था तो टीका और जयमाला के दौरान शादी से इनकार करना चाहिए था.

इसे भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें