scorecardresearch
 

ट्रंप को चेताया, तानाशाह किम जोंग पर न करें भरोसा

लेखक ने याद दिलाया है कि कुछ ही महीने पहले नॉर्थ कोरिया ने अमेरिकी द्वीप गुआम पर हमले करने की चेतावनी दी थी. मिशेल का दावा है कि किम जोंग ट्रंप से होने वाली मुलाकात में यह कह सकते हैं कि उनके न्यूक्लियर हथियार बनाने के अलावा कोई रास्ता नहीं है.

किम जोंग उन और डोनाल्ड ट्रंप किम जोंग उन और डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी लेखक मिशेल मैलिस ने दावा किया है उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता. किम जोंग, बराक ओबामा सहित कई हस्तियों पर किताब लिखने वाले लेखक ने कहा है कि किम की इस बात पर भरोसा नहीं करना चाहिए कि उन्होंने न्यूक्लियर हथियार का परीक्षण करना बंद कर दिया है.

लेखक ने याद दिलाया है कि कुछ ही महीने पहले नॉर्थ कोरिया ने अमेरिकी द्वीप गुआम पर हमले करने की चेतावनी दी थी. मिशेल का दावा है कि किम जोंग ट्रंप से होने वाली मुलाकात में यह कह सकते हैं कि उनके न्यूक्लियर हथियार बनाने के अलावा कोई रास्ता नहीं है.

आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया तानाशाह किम जोंग उन की होने वाली मुलाकात की तैयारियों को लेकर दोनों देश बातचीत कर रहे हैं. ट्रंप और किम की बैठक जून की शुरुआत में होने की संभावना है. वार्ता का लक्ष्य उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम पर रोक लगाना है, जो अमेरिकी धरती के लिए खतरा बना हुआ है.

इससे पहले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन भी मिलने वाले हैं. इनकी 27 अप्रैल को मुलाकात होगी. लंबे वक्त तक चले तनाव के बाद दोनों देशों के प्रमुख मिलने पर सहमत हुए हैं. किम जोंग-उन और मून जे-इन की मुलाकात के लिए जो जगह चुनी गई है उसका नाम है पनमुनजोम. इससे पहले उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच विंटर ओलंपिक गेम्स 2018 को लेकर भी दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल की पनमुनजोम में ही बातचीत हुई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें