scorecardresearch
 

कालाधन विदेश भेजने के मामले में भारत चौथे स्थान पर

भारत को कालाधन विदेश भेजने के मामले में चौथा स्थान मिला है. अमेरिका की एक विचार संस्था ने एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा करते हुए कहा है कि 2004-2013 के बीच देश से 51 अरब डॉलर सालाना बाहर ले जाया गया.

अमेरिका की एक विचार संस्था ने अपनी रिपोर्ट जारी की अमेरिका की एक विचार संस्था ने अपनी रिपोर्ट जारी की

कालाधन विदेश में जमा करने के मामले में भारत चौथे स्थान पर है. आपको जानकर हैरानी होगी कि 2004-2013 के बीच देश से 51 अरब डॉलर सालाना बाहर ले जाया गया. यह बात बुधवार को अमेरिका की एक विचार संस्था ने कही.

चीन है टॉप पर
वाशिंगटन की एक अनुसंधान एवं सलाहकार संस्थान ग्लोबल फिनांशल इंटेग्रिटी (जीएफआई) द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक भारत का रक्षा बजट 50 अरब डॉलर से कम का है. चीन सालाना 139 अरब डॉलर की निकासी के साथ इस सूची में टॉप पर है जिसके बाद रूस (104 अरब डॉलर सालाना) और मेक्सिको (52.8 अरब डॉलर सालाना) का स्थान है.

2013 में अरबों डॉलर कालाधन विदेश में जमा
रिपोर्ट में कहा गया कि 2013 के दौरान विकासशील और उभरती अर्थव्यवस्थाओं में गैरकानूनी धन, कर चोरी , अपराध, भ्रष्टाचार और अन्य गैरकानूनी गतिविधियों से पैदा रिकॉर्ड 1,100 अरब डॉलर कालाधन विदेश में जमा किया गया.

रिपोर्ट में 2013 तक के आंकड़े उपलब्ध हैं. जीएफआई के अनुमान के मुताबिक कुल मिलाकर 2004-2013 तक के दशक के दौरान भारत से 510 अरब डॉलर की राशि भारत से बाहर गई जबकि चीन से 1,390 अरब डॉलर और रूस से 1,000 अरब डॉलर कालाधन विदेश गया.

इनपुट: भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें