scorecardresearch
 

कोयला ब्लॉक आवंटन को सनसनीखेज बना रहे हैं सीएजी: दिग्विजय

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को कहा कि नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) कोयला ब्लॉक आवंटन मुद्दे को बढ़ाचढ़ा कर पेश कर रहे हैं और उसे सनसनीखेज बना रहे हैं.

दिग्विजय सिंह दिग्विजय सिंह

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को कहा कि नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) कोयला ब्लॉक आवंटन मुद्दे को बढ़ाचढ़ा कर पेश कर रहे हैं और उसे सनसनीखेज बना रहे हैं.

दिग्विजय सिंह ने संवाददाताओं से कहा, '2004 के बाद से सीएजी तथ्यों की पुष्टि किए बगैर और काल्पनिक नुकसान प्रस्तुत करते हुए जिस तरह की रपटें पेश कर रहे हैं, उससे देखने में एक ऐसा वातावरण तैयार हो रहा है जैसे कि करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ हो.'

सीएजी ने इस महीने के प्रारम्भ में अपनी रपट में कहा था कि निजी कम्पनियों को कोयला ब्लॉक आवंटन में पारदर्शिता के अभाव के कारण सरकारी खजाने को 1.86 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. दिग्विजय ने कहा, '1980 के दशक के अंत में सीएजी टी.एन. चतुर्वेदी ने बोफोर्स रपट पेश की थी. भाजपा ने हंगामा खड़ा कर दिया और संसद की कार्यवाही नहीं चलने दी. चतुर्वेदी बाद में भाजपा में शामिल हो गए.'

दिग्विजय ने कहा कि उन्होंने किसी संवैधानिक संस्था पर कभी हमला नहीं किया. लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें आशंका है कि सीएजी बढ़ाचढ़ा कर आंकड़े पेश कर रहे हैं. सिंह ने कहा, 'मैंने अपने जीवन में किसी संवैधानिक संस्था पर कभी हमला नहीं किया. लेकिन यदि आप 2004 से पहले के सीएजी के पिछले रिकार्ड देखें तो पाएंगे कि किसी रिकार्ड को कभी सनसनीखेज नहीं बनाया गया था. ऐसा पहली बार हो रहा है जब सीएजी के लोग, न कि सीएजी, प्रेस तक में जा रहे हैं.'

दिग्विजय ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कोयला ब्लॉक आवंटन पर संसद में हंगामा खड़े कर रही है और बहस से भाग रही है, क्योंकि उसे पता है कि उसके पास संख्या बल नहीं है. सिंह ने कहा, 'यदि विपक्ष संसद को नहीं चलने दे रहा है, तो इसका अर्थ यह होता है कि उसके पास संख्या बल नहीं है और मैं चकित हूं कि इसके बावजूद वे प्रधानमंत्री का इस्तीफा मांग रहे हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें