scorecardresearch
 

सोशल मीडिया से मिटेगा भारत-पाक का अविश्‍वास

भारत और पाकिस्तान के पत्रकारों का यह मानना है कि दोनों देशों के बीच के अविश्वास और द्विपक्षीय सम्बन्धों की दूरियों को सोशल मीडिया के उपयोग और लोगों के बीच बातचीत को बढ़ाकर कम किया जा सकता है.

भारत और पाकिस्तान के पत्रकारों का यह मानना है कि दोनों देशों के बीच के अविश्वास और द्विपक्षीय सम्बन्धों की दूरियों को सोशल मीडिया के उपयोग और लोगों के बीच बातचीत को बढ़ाकर कम किया जा सकता है. अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के तत्वावधान में लाहौर और कराची में आयोजित ‘सोशल मीडिया कांफ्रेंस’ के अंतिम दिन उनकी यह प्रतिक्रिया आयी है.

सम्मेलन में अमेरिका के काउंसिल जनरल विलियम मार्टिन ने कहा कि ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया वेबसाइटों ने दोनों देशों के लोगों को वास्तविक स्थिति को समझने में काफी मदद की है साथ ही उसने दुनिया के विभिन्न देशों के लोगों के बीच की दूरियों को भी कम किया है.

उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान छात्रों के ‘एक्सचेंज प्रोग्राम’ के जरिए रिश्तों को सुधार सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें