scorecardresearch
 

सूरत के व्यवसायी ने खरीदी सचिन की लाल फेरारी

कभी सचिन तेंदुलकर की सवारी रही मशहूर ‘360 मोडेना फेरारी’ को सूरत के एक व्यवसायी ने खरीद लिया है. राजहंस समूह के प्रमुख जयेश देसाई ने बताया कि उन्होंने एक पखवाड़े पहले ही कार खरीदी है.

सचिन तेंदुलकर सचिन तेंदुलकर

कभी सचिन तेंदुलकर की सवारी रही मशहूर ‘360 मोडेना फेरारी’ को सूरत के एक व्यवसायी ने खरीद लिया है. राजहंस समूह के प्रमुख जयेश देसाई ने बताया कि उन्होंने एक पखवाड़े पहले ही कार खरीदी है. उन्होंने कहा, ‘मैंने 360 मोडेना फेरारी कार सीधे सचिन तेंदुलकर से सभी कानूनी दस्तावेजों के साथ खरीदी.’ उन्होंने कीमत बताने से इनकार कर दिया.

सचिन पर विशेष

लक्जरी कारों के शौकीन देसाई ने कहा, ‘फेरारी चलाना मेरा सपना था जो अब सच हो गया है.’ फार्मूला वन चैम्पियन रहे रेसर माइकल शूमाकर ने तेंदुलकर को वह कार तोहफे में दी थी. देसाई ने कहा कि यह कार उनके लिये अनमोल है क्योंकि यह उन्होंने महान बल्लेबाज से ली है.

यह पूछने पर कि क्या वह तेंदुलकर को जानते हैं या उनके दोस्त हैं, उन्होंने कहा, ‘मुझसे सिर्फ कार के बारे में पूछिये, सचिन के बारे में नहीं.’ यह फेरारी 2003 में विवादों के घेरे में आ गई थी जब सचिन ने उस पर से कस्टम शुल्क माफ किये जाने की गुजारिश की थी जबकि उन्हें यह किसी टूर्नामेंट में पुरस्कार नहीं बल्कि तोहफे में मिली थी.

सचिन की कहानी तस्वीरों की जुबानी

अगस्त 2003 में वित्त मंत्रालय ने तेंदुलकर को एक करोड़ 13 लाख रुपये की कर राहत दे दी थी. फेरारी के फार्मूला वन ड्राइवर शूमाकर ने सिल्वरस्टोन, इंग्लैंड में तेंदुलकर को वह कार तोहफे में दी थी. षझ। सचिन को शुमाकर ने यह कार तोहफे में तब दिया था जब उन्होंने सर डॉन ब्रेडमैन के 29 शतकों के रिकार्ड को तोड़ा था. तेंदुलकर इस समय अपने परिवार के साथ ब्रेक पर इंग्लैंड में हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें