scorecardresearch
 

नित्‍यानंद ने बैंगलोर की अदालत में किया सरेंडर

विवादास्‍पद स्‍वामी नित्‍यानंद ने आखिरकार बैंगलोर की अदालत में सरेंडर कर दिया. इसके बाद कोर्ट ने नित्‍यानंद को 1 दिन की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया है.

स्‍वामी नित्‍यानंद स्‍वामी नित्‍यानंद

विवादास्‍पद स्‍वामी नित्‍यानंद ने आखिरकार बैंगलोर की अदालत में सरेंडर कर दिया. इसके बाद कोर्ट ने नित्‍यानंद को 1 दिन की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया है.

नित्‍यानन्‍द की खोज के लिए पुलिस का अभियान तेज होने के बाद उन्‍होंने बैंगलोर के रामनगरम कोर्ट में सरेंडर कर दिया. इससे पहले बताया जा रहा था कि नित्‍यानंद अंडरग्राउंड हो गए हैं.

गौरतलब है कि बीते सोमवार को ही कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री ने दो दिन के भीतर नित्‍यानंद की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को आदेश दिए थे. इसके बाद उनके खिलाफ पुलिस ने सर्च वारंट जारी किया था.

नित्‍यानंदा और उनके समर्थकों पर ताजा आरोप पत्रकारों से मारपीट का है. 7 जून को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में हुई इस घटना के बाद स्‍थानीय मीडिया ने एक तरह से स्‍वामी के खिलाफ अभियान छेड़ दिया था. इसी के बाद मुख्‍यमंत्री सदानंद गौड़ा को नित्‍यानंद को गिरफ्तार करने का ऐलान करना पड़ा.

क्या है मामला?

रेप और सेक्स के आरोपों से घिरे विवादस्‍पद स्‍वामी नित्‍यानंद की एक पूर्व शिष्य़ा ने पर लगाए हैं गंभीर आरोप. इस शिष्या के मुताबिक, स्वामी नित्यानंद लड़कियों के साथ सेक्स करने के लिए भगवान का नामों का सहारा लेते थे. वह खुद को कृष्ण और लड़कियों को राधा कहता था. ऐसा करने के पीछे कारण था अपराधबोध ना होना, इसके लिए राधा-कृष्ण के पवित्र प्रेम का उदाहरण देता था.

नित्‍यानंद पर आरोप है कि उनकी सरपरस्‍ती में आश्रम में अवैध गतिविधियां चलती थीं. पुलिस को ऐसी अनैतिक गतिविधियों के सुबूत की तलाश भी है. उनके आश्रम में गत सप्‍ताह हुई हिंसक घटनाओं के बाद पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें