scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, US से यूरोप तक क्यों तोड़ी गई मूर्तियां?

रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 1/9
अमेरिका में रंगभेद का शिकार हुए अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद पूरी दुनिया में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं. नस्लवाद और रंगभेद के खिलाफ लोगों ने अपनी लड़ाई जारी रखी है पर तरीका बदल दिया है. अब प्रदर्शनकारी ऐतिहासिक हस्तियों की मूर्तियां तोड़ रहे हैं. पूरी दुनिया में अब तक 45 मूर्तियां तोड़ी जा चुकी हैं. (फोटोः रॉयटर्स)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 2/9
रंगभेद के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों का आरोप है कि ये जिन ऐतिहासिक लोगों की मूर्तियां हैं, वो सभी गुलामी और दास प्रथा को बढ़ावा देते थे. साथ ही नस्लवाद और रंगभेद का समर्थन करते थे. (फोटोः AFP)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 3/9
सबसे ज्यादा नुकसान अमेरिका और ब्रिटेन की मूर्तियों को नुकसान पहुंचा है. बोस्टन में महान खोजकर्ता क्रिस्टोफर कोलंबस की मूर्ति को उखाड़ फेंका. रंगभेद के खिलाफ आवाज उठा रहे लोगों का कहना है कि कोलंबस ने अमेरिकी मूल के लोगों की सामूहिक हत्या कराई थी. (फोटोः रॉयटर्स)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 4/9
वहीं, ब्रिटेन में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रानी विक्टोरिया की मूर्ति को खराब कर दिया है. उस मूर्ति को भी थोड़ा नुकसान पहुंचा है. रानी विक्टोरिया पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने उपनिवेशवाद को बढ़ावा दिया था. (फोटोः AFP)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 5/9
ब्रिटेन में नस्लवाद-रंगभेद के खिलाफ आवाज उठा रहे प्रदर्शनकारियों ने तो ऐसी 60 मूर्तियों की लिस्ट बनाई जिन्हें वे तोड़ना चाहते हैं या खराब करना चाहते हैं. लीड्स में क्वीन विक्टोरिया के स्टैच्यू पर पेंट स्प्रे कर उसे खराब कर दिया गया. (फोटोः रॉयटर्स)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 6/9
ब्रिस्टल में एडवर्ड कोल्सटन की मूर्ति को गिरा दिया गया. एडवर्ड कोल्सटन अफ्रीकी लोगों की खरीद-फरोख्त कर गुलामी के काम से जुड़ा एक व्यापारी था. (फोटोः AFP)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 7/9
एडिनबर्ग में रॉबर्ट डंडास की मूर्ति को पेंट स्प्रे कर खराब कर दिया गया. रॉबर्ट डंडास के पिता हेनरी डंडास भी दास प्रथा के काम से जुड़े थे. ब्रिटेन की संसद में उन पर महाभियोग की कार्रवाई हुई थी. (फोटोः रॉयटर्स)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 8/9
बेल्जियम के ब्रसेल्स में प्रदर्शनकारियों ने राजा लियोपोल्ड की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया गया. लियोपोल्ड को भी दास प्रथा को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है. (फोटोः AFP)
रंगभेद की लड़ाई इतिहास पर आई, जानें US से यूरोप तक क्यों तोड़ी जा रहीं मूर्तियां?
  • 9/9
लंदन में रॉबर्ट मिलिगन के मूर्ति को प्रदर्शनकारियों ने तोड़ दिया. मिलिगन 18वीं सदी के व्यापारी थे. प्रदर्शनकारी मिलिगन को भी दासप्रथा का समर्थक मानते हैं. (फोटोः रॉयटर्स)