scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

शादी के दूसरे दिन दूल्हा हुआ कोरोना संक्रमित, हॉस्प‍िटल में भर्ती होने के 9वें द‍िन मौत

शादी के दूसरे दिन दूल्हा हुआ कोरोना संक्रमित, सुहागरात से पहले ही हॉस्प‍िटल में भर्ती, हुई मौत
  • 1/5

कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक होती जा रही है. शहरों में ही नहीं कोरोना से अब गांवों में जन हानि होना शुरू हो गई. ग्रामीणों की लापरवाही इंसान की जान पर बन रही है, बावजूद इसके गांवों में कोरोना गाइड लाइन का पालन दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहा. इसकी ताजा म‍िसाल राजस्थान के जालोर में देखने को म‍िली जहां शादी के कुछ ही दिनों में एक दूल्हे की कोरोना की वजह से मौत हो गई. (जालोर से नरेश ख‍िलेरी की र‍िपोर्ट)

शादी के दूसरे दिन दूल्हा हुआ कोरोना संक्रमित, सुहागरात से पहले ही हॉस्प‍िटल में भर्ती, हुई मौत
  • 2/5

गंभीर हालात के बावजूद गांवों में वैवाहिक आयोजनों में बड़ी संख्या में मेहमानों को एकत्रित किया जा रहा है, सोशल डिस्टेंसिंग तो दूर मास्क तक नहीं लगाए जा रहे हैं, इसी का परिणाम है कि रविवार को एक नवविवाहिता दांपत्य जीवन में प्रवेश करने के साथ ही विधवा हो गई. कोरोना के चलते विवाह के कुछ घंटों बाद ही दूल्हे को अस्पताल भर्ती कराना पड़ा. हालात बिगड़े तो जालोर अस्पताल से सिरोही और फिर पालनपुर अस्पताल में भर्ती किया गया. सब कुछ मात्र 9 दिनों में हो गया. नौवें दिन तो शाम होते-होते एक नौजवान कोरोना की जंग हार गया.

शादी के दूसरे दिन दूल्हा हुआ कोरोना संक्रमित, सुहागरात से पहले ही हॉस्प‍िटल में भर्ती, हुई मौत
  • 3/5

जानकारी के मुताबिक, जालोर के रायपुरिया निवासी ईश्वर सिंह देवड़ा की पुत्री कृष्णा कंवर का विवाह 30 अप्रैल 2021 को जालोर के ही बैरठ निवासी शैतान सिंह के साथ हुआ था. कोरोना काल में लापरवाही दूल्हे को ही भारी पड़ गई. कोरोना काल में मास्क नहीं लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग जैसी गाइड लाइन का पालन नहीं करने का खामियाजा जान से हाथ धोकर चुकाना पड़ा.

शादी के दूसरे दिन दूल्हा हुआ कोरोना संक्रमित, सुहागरात से पहले ही हॉस्प‍िटल में भर्ती, हुई मौत
  • 4/5

शैतान सिंह 30 अप्रैल को अपनी ही शादी के नेकचार निभा रहा था. कोरोना के चलते इस दौरान उसकी हालत खराब होती चली गई और अगले ही दिन 1 मई को उसे बारात विदा होने के बाद घर पहुंचते ही गृह प्रवेश की रस्म निभाई गई. तबीयत खराब होने पर दूल्हे शैतान सिंह को अस्पताल ले जाना पड़ा. शुगर लेवल 600 के करीब पहुंच गया. समय गुजरता गया और शैतान सिंह की तबीयत भी बिगड़ती चली गई. बताया जा रहा है कि जालोर में सुधार नहीं होने पर उसे सिरोही अस्पताल में भर्ती कराया गया, यहां से उसे पालनपुर ले जाया गया, लेकिन विधाता को कुछ और ही मंजूर था. 9 मई रविवार की शाम शैतान सिंह की मौत हो गई.

शादी के दूसरे दिन दूल्हा हुआ कोरोना संक्रमित, सुहागरात से पहले ही हॉस्प‍िटल में भर्ती, हुई मौत
  • 5/5

कोरोना की दूसरी लहर गांवों में पांव पसार रही है. ऐसे में राजस्थान सरकार लोगों से वैवाहिक आयोजन नहीं करने की अपील कर चुकी. गहलोत सरकार तो लगातार ग्रामीणों को सजग और सावधान रहने की अपील कर रही है. अभी भी समय है लोगों को मास्क लगाने के साथ सोशल  डिस्टेंसिंग की पालना अनिवार्य रूप से करनी होगी, बिना वजह घर से बाहर निकलना बंद करना होगा, तब ही कोरोना की चेन को तोड़ा जा सकता है. नहीं तो कोरोना से बड़ी संख्या में जन हानि होने से कोई नहीं रोक पाएगा.